• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Etawah
  • Future Of 255 Students In Balance In Etawah: The Result Of 38 Was Canceled By Applying UFM, The Result Of Others Was Also Not Released; Students Are Circling, Hearing Is Not Happening

इटावा...अधर में 255 स्टूडेंट्स का भविष्य:38 का रिजल्ट यूएफएम लगाकर किया कैंसिल, अन्य का भी जारी नहीं किया रिजल्ट; स्टूडेंट्स लगा रहे चक्कर, नहीं हो रही सुनवाई

इटावा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्टूडेंट्स चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। - Dainik Bhaskar
स्टूडेंट्स चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

इटावा में केके महाविद्यायल के 255 छात्र-छात्राओं का भविष्य अधर में है। दरअसल, 16 सितंबर को कॉलेज के बीएससी केमिस्ट्री तृतीय व बीए तृतीय वर्ष के 255 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी थी। करीब 15 दिन पहले कानपुर यूनिवर्सिटी ने 38 स्टूडेंट्स का रिजल्ट जारी कर दिया।

स्टूडेंट्स को उम्मीद जगी कि बाकी छात्रों का रिजल्ट भी जल्द जारी हो जाएगा। लेकिन यूनिवर्सिटी की ओर से जारी रिजल्ट भी यूएफएम लगाकर कैंसिल कर दिया है। वहीं, अन्य छात्रों का रिजल्ट भी जारी नहीं किया है। ऐसे में छात्र-छात्राएं कॉलेज के चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

एलएलबी के एग्जाम में पकड़े गए थे नकलची

बताया जा रहा है कि 16 सितंबर को एग्जाम वाले दिन कॉलेज में चार अन्य कॉलेजों के एलएलबी के छात्र भी परीक्षा देने आए थे। जिसमें से कुछ छात्र नकल करते पकड़े गए थे। कॉलेज प्रसाशन ने उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए सीसीटीवी फुटेज सहित मामला यूनिवर्सिटी को सौंप दिया था, जिसके बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सभी का रिजल्ट रोक दिया है।

जिलाधिकारी से भी नहीं मिली राहत की बात

छात्र अर्पिता दीक्षित व अमित वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया है कि कॉलेज प्रशासन यूनिवर्सिटी से बात करता है तो कोई भी संतोषजनक बात नही बोलता जिसके बाद हम सभी आज से लेकर कई दिनों से डीएम और अन्य अधिकारियों के चक्कर लगा रहे है लेकिन कोई भी हमारी सुनवाई नही हो रही है। जिलाधिकारी श्रुति सिंह से मिलने आये है लेकिन उनके द्वारा कहा गया कि इस मामले में हम कुछ नही कर सकते सिर्फ यूनिवर्सिटी को लिख सकते है बाकी मेरे हाथ में आपके यूनिवर्सिटी से सम्बंधित कुछ नही है।

नकलचियों का परीक्षा परिणाम घोषित

छात्र पवन दुबे और छात्रा आकांक्षा पाल ने बताया है कि जो हम सभी छात्र कॉलेज के रेगुलर छात्र है और महनत से परीक्षा दिए लेकिन जो बाहरी छात्र है और नकल करते हए पकड़े गए थे उन सभी का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया। लेकिन हम सभी छात्रों का रिजल्ट रोक दिया गया है। वही 38 छात्रों ने नेट पर घोंषित किया गया था। उन छात्रों ने दूसरे कॉलेजों में एडमिशन फीस जमा कर दी है। लेकिन अब उन 38 छात्रों का रिजल्ट नेट पर अब अमान्य घोषित कर दिया गया है। जिससे कि हमारी फीस भी दूसरे कॉलेजों में फंस गई है।

खबरें और भी हैं...