शहर में बड़े पैमाने पर अवैध बसों का परिवहन:इटावा में ARTO-TSI ने सयुंक्त अभियान चलाकर की कार्रवाई, डग्गामार बसों के काटे गए चालान

इटावा15 दिन पहले

इटावा में शनिवार देर रात एआरटीओ, टीएसआई ने डग्गामार परिवहन पर रोक लगाने के लिए अभियान चलाया। प्राइवेट स्लीपर बसें औरैया की ओर से दिल्ली की ओर बड़ी तादाद में परिवहन करती हैं। कई बसों का एआरटीओ ने चालान किया। वहीं इस कार्रवाई से अवैध डग्गामार वाहन संचालकों में हड़कंप मच गया।

लंबे अरसे से चल रहा डग्गामारी का खेल
शहर में काफी लंबे समय से डग्गामार बसों का परिवहन बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। जिसकी वजह से रोडवेज विभाग को राजस्व का नुकसान होता है, लेकिन अधिकारी बिना किसी कार्रवाई के चैन की नींद सोते दिखाई देते हैं। कानपुर देहात, औरैया, इटावा होते हुए राजस्थान, दिल्ली, मध्य प्रदेश के लिए शहर से होते हुए प्राइवेट स्लीपर बस परिवहन कर रही हैं।

सबसे अहम बात यह हैं कि रोडवेज बस अड्डे के पास से ही कई ऐसी दुकानें टूर एंड ट्रैवल्स के नाम से चप्पे-चप्पे पर अवैध रूप से खुली हैं। यहीं से धड़ल्ले से सवारियों की बुकिंग की जाती है और बसों का संचालन होता हैं। हालांकि ट्रैफिक पुलिस और परिवहन विभाग जान कर भी अनजान बने बैठे हैं। परिवहन विभाग लगातार सड़क जागरूकता कार्यक्रम चला रहा है।

इसी के चलते आज देर रात एआरटीओ बृजेश कुमार, टीएसआई राजकुमार शर्मा ने संयुक्त रूप से शहर के गुरुतेग बहादुर पुल, भरथना चौराहा, आईटीआई चौराहे पर डग्गामार वाहनों के चालान किए। रोड़वेज बस स्टैंड, शास्त्री चौराहा पर रात्रि 8 बजे से रात्रि 12 बजे तक डग्गामार बसें पुलिस, प्रसाशन की नाक के नीचे शहर से सवारियां भरती नजर आती हैं, लेकिन इन बसों पर कार्रवाई करने से अधिकारी बचते नजर आते हैं।

जानकारी के मुताबिक, इन बसों को टूरिस्ट बसों का परमिट जारी होती है, लेकिन यह बस संचालक उसी परमिट के नाम से कानपुर, औरैया क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों से सवारियां भरकर इटावा शहर में अलग-अलग पॉइंट से सवारियां को बसों में भरते हैं और डग्गामार परिवहन करते हैं।

एआरटीओ की कार्रवाई से हड़कंप
एआरटीओ बृजेश कुमार सिंह ने बताया, दिन और रात में लगातार अवैध रूप से संचालित डग्गामार वहानों पर कार्रवाई की जा रही है। दिन के समय भी कई वहानों के चालान किए गए। आज रात में भी हमारी टीम व टीएसआई के द्वारा संयुक्त रूप से डग्गामार वाहनों पर अंकुश लगाने के लिए बसों के परमिट, ड्राविंग लाइसेंस, अन्य प्रपत्रों की जांच-पड़ताल कर रहे हैं। डग्गामार कर रहे वाहनों पर फिलहाल चालान किए जा रहे हैं। अगली बार शहर में डग्गामारी करते नजर आने पर सीज भी किए जाएंगे।