इटावा में बच्चे की मौत पर जिला अस्पताल में हंगामा:डॉक्टर पर लगाया लापरवाही का आरोप, साइकिल से गिरकर चोटिल हुआ था युवक

इटावा2 महीने पहले

इटावा के जिला अस्पताल में उस वक्त हंगामा हो गया जब एक बच्चे की इलाज के दौरान मौत होगयी। बच्चा शाम को साइकिल चलाते समय गिर कर घायल हो गया था। जिसके बाद परिजन जिला अस्पताल में बच्चे का इलाज करवाने पहुंचे। जहां एक घण्टे बाद उसकी मौत हो गयी। बच्चे की मौत के बाद परिजनों डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा काटा। डॉक्टर पर कार्यवाही के आश्वासन पर परिजन शान्त हुए। पुलिस ने बच्चे का पैनल के द्वारा पोस्टमार्टम करवाने का आश्वासन दिया।

बताते चलें शुक्रवार की शाम को 10 वर्षीय अमन पुत्र स्व अखिलेश निवासी अड्डा जुहाना पटेल नगर सिविल लाइन घर के बाहर साइकिल चला रहा था। तभी साइकिल से गिरकर वो मामूली घायल हो गया। जिसके बाद आस पास के लोगों ने इसकी जानकारी परिजनों को दी। परिजन अमन को लेकर डॉक्टर भीमराव अंबेडकर संयुक्त चिकित्सालय लेकर पहुंचे। जहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने बच्चे का प्राथमिक उपचार करके उसको घर ले जाने के लिए बोल दिया। एक घण्टे बाद बच्चे की मौत होगयी।

परिजन तीन घण्टे तक अस्पताल की इमरजेंसी के बाहर हंगामा काट दिया। घटना की जानकारी होने पर थाना सिविल लाइन प्रभारी मो कामिल पहुंचे।उन्होंने कड़ी मशक्कत के बाद परिजनो की मांग पर बच्चें का पैनल के द्वारा पीएम करवाने की बात कही। जिसके बाद परिजन शांत हुए और पीएम करवाने के लिए तैयार हुए।

वही मृतक अमन के बाबा रामदास ने बताया कि बच्चे की साइकिल से लग गई थी। जिसके बाद उसको अस्पताल लाये थे। डॉ ने इंजेक्शन लगाया और भर्ती नही किया। जिसके बाद उसको घर ले गये जहा रास्ते मे उसकी तबियत बिगड़ी फिर से लेकर अस्पताल पहुंचे तब भी भर्ती नही किया। जिस कारण अमन की मौत होगयी।

सिविल लाइन इंस्पेक्टर मो कामिल ने बताया बच्चे की मौत को लेकर परिजन ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर पर सही इलाज न करने और गलत इंजेक्शन देने की बात मान रहे है। जिसको लेकर उनको आश्वासन दिया गया है। कि बच्चे का पीएम पैनल द्वारा करवाया जायेगा। और प्रार्थना पत्र के आधार पर मुकदमा दर्ज करके कार्यवाई की जाएगी।