इटावा में ओवरलोडिंग पर वाले वाहनों पर हुई कार्रवाई:यूपी- एमपी सीमा पर खनन अधिकारी रहे तैनात, ट्रक मालिकों का किया गया जुर्माना

इटावा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इटावा में ओवरलोडिंग पर वाले वाहनों पर हुई कार्रवाई - Dainik Bhaskar
इटावा में ओवरलोडिंग पर वाले वाहनों पर हुई कार्रवाई

इटावा में अवैध ओवरलोड खनिज परिवाहन के खिलाफ खनिज अधिकारी ने कार्यवाही की है। अभियान के तहत मौरंग भरे तीन ट्रक सहित एक ट्रैक्टर और तीन ट्रकों पर बकाया चालानों पर की गई कार्रवाई की गयी है। जून में अब 88 ट्रकों पर चालान और सीज की कार्रवाई की जा चुकी है। करीब 60 से 65 लाख रुपए की इन ट्रकों से राजस्व वसूली की गई है।

अवैध ओवरलोडिंग पर लगातार चल रहा अभियान

यूपी एमपी सीमा के चंबल पुल पर खनिज विभाग द्वारा प्रतिदिन ओवरलोड व अवैध कागजों को लेकर गिट्टी व मौरंग भरे वाहनों पर कार्रवाई की जा रही है। इसी क्रम में आज रविवार को खनन अधिकारी सुभाष सिंह द्वारा चेकिंग के दौरान मौरंग भरे तीन ट्रकों पर ई-चालान की कार्रवाई की गई। जिसमें पकड़े गए ट्रक मालिकों ने अपना-अपना जुर्माना भर के उन्हें रिलीज करवा लिया है।

कागज न होने पर वाहन को किया सीज

वहीं खनन अधिकारी ने बालू भरे एक ट्रैक्टर को भी पकड़ा जिस पर कागज ना होने पर उस पर सीज की कार्रवाई की गई। साथ ही तीन ऐसे ट्रक पर भी पकड़े जिन पर पहले भी चालान किया गया लेकिन उन लोगों चलान जमा नहीं किया। एमपी से बड़े पैमाने पर अवैध ओवरलोड परिवहन का गोरखधंधा होता चला आ रहा है।

उदी क्षेत्र के चम्बल पुल के चैकिंग पॉइंट पर खनन अधिकारी सुभाष सिंह
उदी क्षेत्र के चम्बल पुल के चैकिंग पॉइंट पर खनन अधिकारी सुभाष सिंह

कार्रवाई से घबराए माफिया

बीते 6 माह से इस धंधे पर अंकुश लगता दिखाई दे रहा क्योंकि जिले में खनन अधिकारी के तौर पर सुभाष सिंह यहां तैनात किए गए है जिनकी सख्ती और लगातार कार्रवाई के कारण ओवरलोड के इस धंधे में कमी देखने को मिल रही है। यही कारण रहा जो 5 दिन पूर्व खनन अधिकारी सुभाष सिंह को एमपी के एक फोन नम्बर से उनको जान से मारने की धमकी दी गयी। जिसके बाद सुभाष सिंह ने थाना सिविल लाइन में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करवाया था। पुलिस मुकदमा दर्ज करने के बाद दो लोगों की गिरफ्तारी भी की थी।

लगातार जारी रहेगी कार्रवाई

सुभाष सिंह ने बताया कि लगातार कार्रवाई की जा रही है जिससे खनन माफिया घबराए हुए है। काफी दबाव बनाने की कोशिश की जाती है लेकिन अवैध परिवहन पर इसी तरह कार्यवाही जारी रहेगी।