इटावा...मिशन इकदिल ब्लॉक के लिए भूख हड़ताल:धरना स्थल पहुंचीं BJP विधायक को लौटाया, कहा- लखनऊ जाकर घोषणा करवाएं

इटावा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इटावा में मिशन इकदिल ब्लॉक के लिए भूख हड़ताल। - Dainik Bhaskar
इटावा में मिशन इकदिल ब्लॉक के लिए भूख हड़ताल।

इटावा में इकदिल नगर पंचायत को ब्लॉक बनाए जाने के लिए एक माह से अधिक से धरना, चुनाव बहिष्कार के बाद अब 4 दिन से मिशन इकदिल संयोजक दीपक राज अनिश्चकालीन भूख हड़ताल पर बैठे हैं। भरथना से भाजपा विधायक सावित्री कठेरिया आज मुबारकपुर में जारी भूख हड़ताल पर बैठे अनशनकारी को समझा बुझाकर, आश्वासन देकर हड़ताल समाप्त करवाने के लिए पहुंचीं, जहां पर विधायक ने सभी ग्रामीणों को जल्द से जल्द ब्लॉक बनाए जाने का आश्वासन दिया।

जैसे ही विधायक ने अपना संबोधन समाप्त किया, वैसे ही अनशनकारी दीपक राज का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने सैकड़ों ग्रामीणों के सामने विधायक को लखनऊ जाकर इकदिल नगर पंचायत को ब्लॉक बनाए जाने की मांग करने को कहा।

तेज होती जा रही मांग

इकदिल नगर पंचायत को ब्लॉक बनाए जाने के लिए दिन प्रतिदिन मांग तेज हो रही है। सत्याग्रह, चुनाव बहिष्कार और ज्ञापन देने का एक माह से दौर जारी है, लेकिन मांग पूरी न होने से नाराज मिशन इकदिल के संयोजक दीपक धरने पर बैठ गए हैं। दीपक ने बताया 50 ग्राम पंचायतों में 28 ग्राम पंचायतें भरथना विधानसभा क्षेत्र से हैं। इकदिल विकासखंड निर्माण जनपद स्तर से सभी औपचारिकताएं पूर्ण हो चुकी हैं।

धरनास्थल पर पहुंचीं बीजेपी विधायक

साथ ही जिला प्रशासन द्वारा विकासखंड के भवन निर्माण के लिए जगह का प्रस्ताव भी जिलाधिकारी द्वारा शासन एवं सरकार को भेज दिया गया है, लेकिन अभी तक विकासखंड निर्माण की घोषणा नहीं हुई। आज भरथना की विधायक सावित्री कठेरिया धरना स्थल पर पहुंचीं और उन्होंने आश्वासन देते हुए कहा कि ब्लॉक की घोषणा शीघ्र करवाई जाएगी। मैं जूस पिलाकर अनशन खत्म करवाना चाहती हूं।

विधायक को सौंपा ज्ञापन

इस बात पर दीपक राज ने जूस पीने से इनकार किया और कहा कि हम अनशन खत्म नहीं करेंगे। पहले आप लखनऊ जाओ और ब्लॉक बनने की घोषणा करवाओ। झूठी बातों में हम नही आएंगे। जब तक ब्लॉक की घोषणा नहीं हो जाती तब तक अनशन अब खत्म नहीं होगा। मिशन संयोजक दीपक राज, सह संयोजक डॉ. सुशील सम्राट और ग्राम प्रधान सुरजीत सिंह तिवारी ने विधायक सावित्री कठेरिया को ज्ञापन देकर चलता कर दिया। इस मौके पर बड़ी संख्या में पुरुष व महिलाएं उपस्थित रहीं।