शिवपाल यादव का अखिलेश पर हमला:कहा- चुनाव के लिए मुझे निमंत्रण नहीं दिया, मेरे आंख-कान दोनों बंद हैं

इटावा6 महीने पहले

प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने एक बार फिर सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। आज़मगढ़ में होने वाले उपचुनाव को लेकर सोमवार को शिवपाल ने कहा, 'जब मुझे किसी ने निमंत्रण ही नहीं दिया, मुझसे कुछ कहा ही नहीं तो मेरे आंख-कान दोनों बंद हैं। इन चुनावों में हम बिल्कुल शांत हैं।'

इतना ही नहीं आज़मगढ़ से सपा प्रत्याशी भतीजे धर्मेंद्र यादव को जीत का आशीर्वाद देने के सवाल पर कहा, 'हमसे आशीर्वाद मांगेंगे तो जरूर आशीर्वाद देंगे, लेकिन जब कोई आशीर्वाद मांग ही नहीं रहा तो यहीं से बैठे-बैठे कैसे आशीर्वाद दे दूं।'

ये सारी बातें शिवपाल यादव ने जसवंतनगर में मन्दिर के कार्यक्रम के दौरान कहीं। बता दें, अखिलेश यादव ने हाल ही में रामपुर और आजमगढ़ के उपचुनाव में प्रचार के लिए स्टार कैंपेनर की सूची जारी की है। इसमें शिवपाल यादव का नाम नहीं है। इस बात से शिवपाल अखिलेश से नाराज हैं। उन्होंने उपचुनाव से दूरी बना ली है।

पहले भी अखिलेश-शिवपाल में दिखी नाराजगी
यूपी विधानसभा चुनाव बाद अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच नाराजगी सार्वजनिक मंचों में दिखना शुरू हो गई थी। करीब दो महीने पहले आगरा में अखिलेश यादव ने शिवपाल यादव को लेकर पूछे गए सवाल पर इशारों ही इशारों में भाजपा का करीबी बताते हुए कहा था कि उन्हें चले जाना चाहिए। अखिलेश ने कहा था कि जो भाजपा में है वो सपा में कैसे हो सकता है।

इसके जवाब में शिवपाल ने कहा था, ‘वह समाजवादी पार्टी के 111 विधायकों में से एक हैं। 'अगर अखिलेश यादव को लगता है कि मैं BJP के संपर्क में हूं, तो फिर मुझे विधानमंडल दल से निकाल क्यों नहीं देते? उनके पास अधिकार है। अगर मैं भाजपा के संपर्क में हूं, तो वो मुझे निकाल सकते हैं।

आजमगढ़ से धर्मेंद्र यादव हैं सपा के उम्मीदवार
बता दें, यूपी में आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव हो रहा है। इन दोनों ही सीटों पर 23 जून को वोटिंग होनी है। आजमगढ़ में बीजेपी ने दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' को अपना उम्मीदवार बनाया है, जबकि सपा ने अखिलेश यादव के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव को और बसपा ने शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली को अपना उम्मीदवार बनाया है।