इटावा में चौकी के अंदर दरोगा से अभद्रता, VIDEO:आरोपी को छुड़ाने के लिए चौकी के अंदर हुआ था हंगामा, दो पक्षों में हुआ था विवाद

इटावा19 दिन पहले
चौकी इंचार्ज मिलन सिरोही से भिड़ते आरोपी के पक्षकार और आरोपी

इटावा में दो पक्षों के झगड़े में सुलह करवाना चौकी इंचार्ज को भारी पड़ गया। दरोगा के साथ चौकी के अंदर लोगों ने अभद्रता की वीडियो वायरल हुआ। वहीं दरोगा ने बताया सट्टा लेने देन के विवाद दो पक्षों में विवाद हुआ था। जिसके बाद दरोगा ने सट्टे की पर्ची समेत एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। वही विवाद करने वाले दूसरे व्यक्ति को मिर्गी दौरा पड़ने के चलते अस्पताल भेजा गया।

बता दें कि रविवार को थाना सिविल लाइन थाना क्षेत्र की टीवी अस्पताल कांशीराम कालोनी चौकी में उस वक्त हंगामा हो गया। जब एक सट्टे का काम करने वाले युवक को चौकी इंचार्ज ने चौकी में बैठा लिया। जिसके बाद कॉलोनी को लोग चौकी में घुसकर आरोपी की पैरोकारी करते हुए हंगामा करने लगे। चौकी में रखे घरेलू चाकू को देखकर आरोपी को चाकू में जेल भेजने के डर से वीडियो बनाकर दरोगा के ऊपर आरोप लगाने लगे। दरोगा काफी देर तक समझाने का प्रयास करता रहा लेकिन आरोपी के पक्ष के लोग हंगामा करते हुए।

सिविल लाइन थाने की कांशीराम कॉलोनी की चौकी के बाहर खड़ी भीड़, हंगामा करने वाला एक आरोपी फोन पर बात करता हुआ
सिविल लाइन थाने की कांशीराम कॉलोनी की चौकी के बाहर खड़ी भीड़, हंगामा करने वाला एक आरोपी फोन पर बात करता हुआ

चौकी इंचार्ज मिलन सिरोही ने बताया कि क्षेत्र में दो पक्षों में सट्टे के रुपए के लेन देन में झगड़ा हो गया। जिसके बाद दोनों पक्ष पुलिस चौकी पहुंचे जिसके बाद अमीन पुत्र एमके के पास से सट्टा पर्ची बरामद की। आरोपी को जब चौकी में बैठा लिया। इतने में ही कालोनी के दर्जनों लोग इक्ट्ठा होगये और चौकी के अंदर घुसकर सट्टा आरोपी के पक्ष में हंगामा करने लगे और चौकी इंचार्ज पर चाकू लगाकर जेल भेजने का आरोप लगाकर वीडियो बनाने बने लगे।

इंचार्ज ने कहा चौकी में अकेले थे। और यह लोग दवाब बनाने की कोशिश कर रहे थे। घटनाक्रम के थाने से फोर्स बुलाकर दो लोगों को थाने ले आये जिस पर बबलू पुत्र पूरन सिंह को मिर्गी का दौरा आने पर उसको अस्पताल में भेज दिया। वही अमीन को सट्टा पर्ची बरामद होने पर उस पर मुकदमा दर्ज करके जेल भेजने की कार्यवाई की गई। पुलिस चौकी में की गई अभद्रता के मामले में आरोपियों पर कार्यवाई की जाएगी।