अमृतपुर में प्रसव के 9 दिन बाद महिला की मौत:नहीं रुक रहा था रक्तस्राव, मायके के लोग बोले-ससुरालियों ने की लापरवाही

अमृतपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमृतपुर में प्रसव के 9 दिन बाद महिला की मौत हो गई। मायके के लोगों ने ससुरालियों पर लापरवाही का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि ससुरालियों ने सही से इलाज नहीं कराया। इससे उनकी बेटी की जान चली गई। पुलिस ने तहरीर के आधार पर जांच शुरू कर दी है।

अमृतपुर तहसील थाना क्षेत्र के ग्राम परतापुर निवासी पवन पुत्र हरिनंदन का विवाह हरदोई के पाली खानूपुर निवासी श्याम बिहारी की पुत्री रीतू के साथ डेढ़ साल पहले हुई थी।

26 जुलाई को महिला ने बेटी को दिया था जन्म

रीतू ने 26 जुलाई को ससुराल में ही पुत्री को जन्म दिया था। प्रसव के दौरान ससुरालियों न उसे अस्पताल में भर्ती नहीं कराया। एक दाई को बुलाया था। दाई के प्रसव कराने के बाद लगातार रीतू को रक्तस्राव हो रहा था। बाद में परिजनों ने उसे लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया।

लखनऊ के अस्पताल में मौत

हालत में कोई सुधार न होने पर ससुरालियों ने आवास विकास के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया। यहां भी हालत में सुधार न होने पर रीतू को रेफर कर दिया गया। इसके बाद उसे लखनऊ के एक अस्पताल में भर्ती किया गया। शुक्रवार को सुबह 9 बजे रीतू की मौत उपचार के दौरान हो गई।

परिजन शव लेकर घर आ गए। सूचना पर मृतका केपिता श्याम बिहारी, मां साबित्री देवी व भाई धर्मपाल पहुंच गए। मृतका के भाई धर्मपाल ने पुलिस को तहरीर दी। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। अमृतपुर थाना अध्यक्ष अनिल कुमार चौबे ने बताया तहरीर मिली है। जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...