पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फर्रुखाबाद में भाई ने हड़पी भाई की नौकरी:पिता की मौत के बाद फर्जी सिग्नेचर कर छोटे बेटे ने की धोखाधड़ी, इंसाफ के लिए पीड़ित ने सीएम पोर्टल से लेकर सीएमओ तक से लगाई गुहार

फर्रुखाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फर्रुखाबाद में पिता की नौकरी पाने के लिए बड़ा बेटा कर रहा संघर्ष। - Dainik Bhaskar
फर्रुखाबाद में पिता की नौकरी पाने के लिए बड़ा बेटा कर रहा संघर्ष।

फर्रुखाबाद में लोहिया अस्पताल में तैनात माली की मौत के बाद उसके दो बेटों में उसकी नौकरी को लेकर रस्साकशी शुरू हो गई। उसका बड़ा बेटा बाहर रहता था। बाद में जब वह घर पहुंचा तो उसे पता चला कि पिता की मौत हो चुकी है। साथ ही उसके छोटे भाई ने एफिडेविट पर फर्जी साइन कर नौकरी पर कब्जा कर लिया है। इसके बाद उसने इसकी शिकायत स्वास्थय विभाग के अधिकरियों से लेकर डीएम तक से की लेकिन किसी ने उसकी सुनवाई नहीं की। 5 साल तक दफ्तरों के चक्कर लगाने के बाद उसने हार मान ली।

माली के पद पर तैनात था मृतक
फर्रुखाबाद के डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अस्पताल में माली के पद पर तैनात था मृतक नरेश बाबू। उसकी 14 फरवरी 2016 को मौत हो गई थी। उसके तीन बेटे हैं। जिसमें से बड़ा बेटा वृंदावन सैन औरंगाबाद में रहकर काम करता था। उसके उसके छोटे भाइयों ने पिता के मौत की खबर नहीं दी। कुछ महीनों बाद जब वह घर आया तो उसे इस बात का पता चला।

छोटे भाई ने बिना सहमति के ली नौकरी
उसे वापस आने पर यह भी पता चला कि उसके छोटे भाई दुर्गा प्रसाद ने एफिडेविट पर फर्जी साइन कर पिता की नौकरी ले ली है। जो कि उसे मिलनी चाहिए थी। इसकी शिकायत उसने फर्रुखाबाद डीएम से लेकर सीएमओ व सीएमएस तक से की। कहीं से भी उसे न्याय नहीं मिला। इस मामले की शिकायत उसने सीएम पोर्टल पर भी दर्ज की है। 2016 से लेकर अब तक भागदौड़ कर वह थक गया। अंत में उसने हार मान ली और दफ्तरों के चक्कर लगाना छोड़ दिया।

खबरें और भी हैं...