रिश्ता दिल का, पर धर्म के लंबरदारों को पसंद नहीं:अलीगढ़ की रिहाना ने फर्रुखाबाद के विकास से मंदिर में की शादी; अब परिवार से जान का खतरा, पुलिस से लगाई सुरक्षा की गुहार

फर्रुखाबादएक महीने पहले
मंदिर में शादी करते रिहाना और विकास।

उत्तर प्रदेश के फर्रखाबाद जिले में एक प्रेमी जोड़े ने मंदिर में शादी रचा ली है। यह कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन मसला ये है कि ये दो अलग समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। अलीगढ़ की रहने वाली रिहाना का दिल फर्रुखाबाद के रहने वाले विकास राजपूत पर आ गया। दोनों में प्रेम प्रसंग बढ़ा, कई वर्षों तक यह प्रेम प्रसंग चलता रहा। जब दोनों बालिग हुए तो शादी कर ली। हालांकि, अब उन्हें अपनी जान का खतरा भी महसूस हो रहा है, इसलिए उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है। पुलिस ने परिजनों से संपर्क करके, मामला शांत करवाकर लड़की-लड़के को साथ भेज दिया है।

नोएडा में तीन चार साल से साथ काम कर रहे थे

दरअसल, प्रेम की यह कहानी नोएडा से शुरू होती है। अलीगढ़ जिले के थाना लोधा क्षेत्र की रहने वाली 19 वर्षीय रिहाना नोएडा में एक बल्ब फैक्ट्री में काम करती है। वहीं पर फर्रुखाबाद जिले का रहने वाला विकास कुमार राजपूत भी काम करता है। ये लोग यहां तीन चार वर्षों से काम कर रहे हैं। काम के दौरान ही रिहाना और विकास का प्रेम प्रसंग शुरू हो गया, लेकिन इस दौरान वे नाबालिग होने के कारण शादी नहीं रचा सके। अब जब दोनों बालिग हो गए तब उन्होंने शादी करने का फैसला किया।

गांव के कुछ स्थानीय नेताओं ने विकास और रिहाना की शादी करवाई।
गांव के कुछ स्थानीय नेताओं ने विकास और रिहाना की शादी करवाई।

शादी के बाद पहुंचे कोतवाली में सुरक्षा मांगने

शादी के लिए विकास अपने गांव कायमगंज आ गया। यहां प्रेमी जोड़े ने एक स्थानीय नेता प्रदीप सक्सेना से मदद मांगी। इस पर प्रदीप ने घसिया चिलौली स्थित बड़ी देवी मंदिर में दोनों की शादी करा दी। इसके बाद दोनों कोतवाली पहुंचे। वहां एसआई नीतू से मुलाकात कर दोनों ने खुद के बालिग होने के प्रमाण पत्र पेश किए। शादी में दोनों के परिवारों में से कोई शामिल नहीं हुआ। इस पर प्रेमी जोड़े ने आशंका जताई कि उनके परिवार वाले कुछ नुकसान कर सकते हैं।

पुलिस ने लड़की पक्ष से बात करके दोनों को साथ रहने के लिए भेज दिया है।
पुलिस ने लड़की पक्ष से बात करके दोनों को साथ रहने के लिए भेज दिया है।

पुलिस ने की लड़की के परिजनों से बात

मंदिर में शादी के बाद काफी देर तक रिहाना और विकास कोतवाली में बैठे रहे। इस पर एसआई नीतू ने लोधा थाने की पुलिस से संपर्क कर लड़की के परिजनों से बात की। उन्होंने शादी की पूरी कहानी बताई साथ ही यह भी कहा कि लड़का-लड़की बालिग हो चुके हैं। अब वह साथ रह सकते हैं, इस पर लड़की के पिता ने कहा कि लड़की हमारे यहां से जा चुकी है, हमें कोई लेना देना नहीं है। इस पर पुलिस ने युवती को युवक के सुपुर्द कर दिया। प्रेमी जोड़ा खुशी-खुशी अपने घर को चला गया।

खबरें और भी हैं...