स्वास्थ्य मेले से चार चिकित्सक गायब, रोका वेतन:सीएमओ बोले लापरवाही नहीं की जाएगी बर्दाश्त,संकिसा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर सीएमओ को मिली गंदगी सफाई कर्मी का रोका वेतन

फर्रुखाबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्र पर जानकारी लेते सीएमओ। - Dainik Bhaskar
प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्र पर जानकारी लेते सीएमओ।

प्रत्येक रविवार को मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेले का आयोजन किया जाता है। फर्रुखाबाद में मुख्यमंत्री जन आरोग्य स्वास्थ्य मेला की स्थिति ठीक होने का नाम नहीं ले रही है। चिकित्सकों की लापरवाही मरीजों पर भारी पड़ रही है। रविवार को आयोजित मेले का निरीक्षण करने पहुंचे मुख्य चिकित्साधिकारी को दो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर चार चिकित्सक गायब मिले। वहीं संकिसा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर गंदगी मिलने पर सफाई कर्मी और गैर हाजिर चारों चिकित्सकों का वेतन रोक दिया है।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अवनींद्र कुमार ने बताया रविवार को संकिसा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। इस दौरान डा. प्रभात त्रिपाठी अनुपस्थित मिले। अस्पताल में गंदगी मिलने पर उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों की फटकार लगाई। सीएमओ को बताया गया कि सफाई कर्मचारी संतोष कुमार काम पर नहीं आते हैं। इस पर उन्होंने डा. प्रभात और सफाई कर्मचारी का वेतन रोक दिया।

खिमसेपुर में तीन चिकित्सक मिले अनुपस्थिति

सीएमओ ने बताया खिमसेपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। यहां पर डा. सौरभ कटियार, डा. विद्यार्थी मिश्रा, डा. राजेश अनुपस्थित मिले। जिस पर सीएमओ ने तीनों चिकित्सकों का वेतन रोक दिया। नगरीय स्वास्थ्य केंद्र भोलेपुर में व्यवस्था ठीक मिली और सभी कर्मचारी तैनात मिले। उन्होंने बताया कि चार चिकित्सक और एक सफाई कर्मचारी का वेतन रोका गया है। उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी और आशा बहू भी मौजूद नहीं मिली हैं, जिस पर उन्हें चेतावनी दी गई। सीएमओ ने चिकित्सक और कर्मचारियों से कहा मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेले को गंभीरता से लेकर मरीजों को परामर्श दें। किसी भी कीमत पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।