फर्रुखाबाद के शिवालयों में गूंजे बम-बम भोले के जयकारे:पंडाबाग मंदिर में मंगला आरती के बाद हुआ जलाभिषेक, पांडवेश्वरनाथ मंदिर में भक्तों की भारी भीड़

फर्रुखाबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रामेश्वर मंदिर में जलाभिषेक करते श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया। - Dainik Bhaskar
रामेश्वर मंदिर में जलाभिषेक करते श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया।

फर्रुखाबाद में सावन के तीसरे सोमवार पर शहर के प्रमुख शिवालयों में भक्तों की भीड़ उमड़ी। सुबह से घरों से ही मंदिरों तक बम-बम भोले और ओम नम: शिवाय के जयकारे लगे। शहर के पौराणिक पांडवेश्वरनाथ मंदिर में भक्तों ने लाइन लगाकर जलाभिषेक किया। कोतवालेश्वरनाथ मंदिर में भक्तों की भीड़ लगी रही।

रेलवे रोड के पांडवेश्वरनाथ मंदिर को रंग-बिरंगी झालरों से सजाया गया था। सुबह से ही भक्तों का पहुंचना शुरू हो गया। सुबह करीब 5:30 बजे मंगला आरती के बाद जलाभिषेक का सिलसिला शुरू हुआ। महिलाओं और पुरुषों को अलग-अलग लाइन लगानी पड़ी। मंदिर के अंदर बाहर पुलिस बल तैनात रहा। पुजारी गोपाल शर्मा ने दूध, दही, घी, शहद, भांग, धतूरा, बेल पत्र और शहद से रुद्राभिषेक कर आरती की गई। भक्तों को प्रसाद बांटा गया।

मंदिर में जलाभिषेक करते श्रद्धालु।
मंदिर में जलाभिषेक करते श्रद्धालु।

मत्था टेक मांगी मनौती
कोतवालेश्वरनाथ मंदिर को भव्यता के साथ सजाया गया था। यहां भी भोर से लेकर देर शाम तक भीड़ रही। श्रद्धालुओं ने मत्था टेक कर मनौती मांगी। पुराना कोठा पारचा स्थित द्वादश ज्योतिर्लिंग धाम, पांचाल घाट रोड स्थित रत्नेश्वर मंदिर, रेलवे रोड स्थित बालाजी मंदिर समेत शहर के अन्य शिवालयों में भगवान भोलेनाथ का पूजन किया गया।

कोतवालेश्वरनाथ मंदिर में पूजा करते श्रद्धालु।
कोतवालेश्वरनाथ मंदिर में पूजा करते श्रद्धालु।

रामेश्वर नाथ व कालेश्वर नाथ में भी उमड़ी भीड़
सावन के आखिरी सोमवार को कंपिल स्थित रामेश्वरनाथ व कालेश्वरनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। ऐतिहासिक रामेश्वरनाथ मंदिर में सुबह 3 बजे से ही लोग पूजन अर्चन करने लगे। बहुत से लोगों ने पहले गंगा स्नान किया। इसके बाद रामेश्वरनाथ मंदिर में जलाभिषेक करने पहुंचे। इस दौरान भगवान भोलेनाथ के जयकारे गूंजते रहे।

खबरें और भी हैं...