कोच न होने से बंद हुई बॉक्सिंग प्रैक्टिस:फर्रुखाबाद स्पोर्ट्स स्टेडियम में 2 साल से बॉक्सिंग कोच नहीं, एक साल से खराब पड़ी रिंग

फर्रुखाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फर्रुखाबाद के फतेहगढ़ में बॉक्सिंग के खिलाड़ियों की प्रतिभा निखारने के लिए जिले के स्टेडियम में 2 साल से कोच नहीं है। बॉक्सिंग के लिए बनी रिंग भी एक साल से खराब पड़ी है। इससे खिलाड़ियों ने भी अभ्यास के लिए स्टेडियम आना बंद कर दिया है। ऐसा तब है जब बॉक्सिंग में ही जिले के खिलाड़ी ने जूनियर एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में प्रतिभाग कर कांस्य पदक जीता था।

फतेहगढ़ से ब्रह्मदत्त द्विवेदी स्टेडियम में बॉक्सिंग का प्रशिक्षण देने के लिए रिंग बनाई गई थी। संविदा पर तैनात कोच ने मार्च 2020 तक बॉक्सिंग के खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया। उससे खिलाड़ियों ने राज्य, अंतरराष्ट्रीय खेल तक प्रदर्शन कर मेडल जीतकर जिले का नाम रोशन किया। फतेहगढ़ के मोहल्ला न्यू आदर्श कॉलोनी निवासी सैनिक शैलेंद्र कुशवाहा के बेटे देव प्रताप सिंह ने भारतीय टीम के साथ 28 फरवरी से 15 मार्च 2022 तक जॉर्डन देश में हुए जूनियर एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में प्रतिभाग किया। वहां कांस्य पदक जीतकर जिले के साथ देश का नाम रोशन भी किया। आज हालत यह है कि स्टेडियम में कोई सुविधा न होने से अब यहां अभ्यास करने कोई खिलाड़ी नहीं पहुंच रहा है।

प्रशिक्षण लेने आते थे खिलाड़ी
स्टेडियम में जब कोच की तैनाती थी, उस समय 25 से 30 खिलाड़ी स्टेडियम में प्रशिक्षण लेने जाते थे, लेकिन इन दिनों एक भी खिलाड़ी स्टेडियम में बॉक्सिंग रिंग में अभ्यास के लिए नहीं पहुंच रहा है। खिलाड़ियों का कहना है कि रिंग में पहुंच भी जाएं तो रिंग भी ठीक नहीं है। इस पर अधिकारियों का कोई ध्यान भी नहीं है।

जानें क्या बोले जिम्मेदार
जिला क्रीड़ा अधिकारी करमवीर सिंह ने बताया, इस माह कोच की तैनाती होने की संभावना है। बॉक्सिंग रिंग ठीक कराने के लिए सीडीओ से वार्ता हुई थी। उन्होंने बॉक्सिंग रिंग ठीक करवाने का आश्वासन दिया है। जल्द ही इस पर काम शुरू करा दिया जाएगा, ताकि सुविधा मिल सके।