फर्रुखाबाद में ग्रामीणों ने पूर्ति निरीक्षक पर किया हमला:कम राशन देने के लिए दुकानदार को निलंबित करवाना चाहते थे लोग, अधिकारी के असमर्थता जताने पर भड़के

फर्रुखाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फर्रुखाबाद में ग्रामीणों ने पूर्ति निरीक्षक पर किया हमला। - Dainik Bhaskar
फर्रुखाबाद में ग्रामीणों ने पूर्ति निरीक्षक पर किया हमला।

फर्रुखाबाद में कम राशन मिलने की शिकायत की जांच करने पहुंचे पूर्ति निरीक्षण से शिकायत कर्ताओं ने तत्काल दुकानदार को निलंबित करने की जिद की। निरीक्षक ने असमर्थता जताई तो बातचीत के दौरान ग्रामीण पहले तो आपस में भिड़ गए। बाद में कुछ ग्रामीणों ने पूर्ति निरीक्षण को दौड़ा लिया। किसी तरह वह वहां से बचकर निकल पाए। जिसके बाद उन्होंने मेरापुर थाने में ग्रामीणों के खिलाफ तहरीर दी है।

गांव वालों ने पहले डीएम से की थी शिकायत

जिले के उनासी गांव निवासी ग्रामीणों ने डीएम से राशन दुकान से कम राशन मिलने की शिकायत की थी। डीएम ने एसडीएम सदर को जांच कराने के आदेश दिए थे। एसडीएम के निर्देश पर गुरुवार को पूर्ति निरीक्षक राजेश चौधरी जांच के लिए गांव पहुंचे। बयान दर्ज करते समय कुछ ग्रामीणों ने राशन कार्ड काटने की शिकायत की और कुछ ने नया कार्ड बनवाने की मांग की।

निलंबन की मांग पूरी न होने पर भड़के ग्रामीण

शिकायतकर्ता राशन दुकान को तत्काल निलंबित करने की मांग करने लगे। पूर्ति निरीक्षक ने कहा कि निलंबित करने का अधिकार उनके पास नहीं है। जांच रिपोर्ट अधिकारियों को सौंपेंगे। उच्चाधिकारियों के स्तर से कार्रवाई होगी। बातचीत के दौरान ग्रामीण आपस में भिड़ गए और मारपीट होने लगी। ग्रामीण पूर्ति निरीक्षक के साथ भी गाली गलौच करने लगे। डर की वजह से पूर्ति निरीक्षक भागे तो कुछ ग्रामीणों ने उनको कुछ दूर तक दौड़ाया।

पूर्ति निरीक्षक बोले- ग्रामीणों ने की अभद्रता

पूर्ति निरीक्षक ने बताया कि बयान दर्ज करने के दौरान कुछ ग्रामीणों ने उनसे अभद्रता की। इससे वह जान बचाकर वहां से भागे। थाने में तहरीर दे दी है। मेरापुर थानाध्यक्ष देवी प्रसाद गौतम ने बताया कि तहरीर मिली है। अधिकरियों से बात व जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...