फर्रुखाबाद 37 प्रतिशत लोगों के दांतों की होगी स्क्रीनिंग:30 वर्ष की उम्र पार कर चुके लोगों की होगी स्क्रीनिंग

फर्रुखाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अभियान को लेकर सीएमओ कार्यालय में मीटिंग करते स्वास्थ्य कर्मी। - Dainik Bhaskar
अभियान को लेकर सीएमओ कार्यालय में मीटिंग करते स्वास्थ्य कर्मी।

फर्रुखाबाद में हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर पर ओरल हेल्थ कार्यक्रम किया जाएगा। जहां तीस वर्ष की आयु पूरी कर चुके 37 प्रतिशत लोगों के दांतो की स्क्रीनिंग की जाएगी। जिले में दस अगस्त से स्क्रीनिंग अभियान शुरू होगा।

सीएमओ अवनींद्र कुमार।
सीएमओ अवनींद्र कुमार।

सीएमओ अवनींद्र कुमार ने बताया जिले के 82 हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर, 26 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर 10 अगस्त से ओरल हेल्थ कार्यक्रम के तहत मुख व दंत रोग स्क्रीनिंग अभियान शुरू होगा। अभियान में 30 साल की उम्र पार कर चुकी कुल आबादी के 37 प्रतिशत लोगों की मुख एवं दंत की स्क्रीनिंग की जाएगी ताकि समय रहते बीमारियों से ग्रसित होने वालों को उपचार और सही परामर्श मिल सके।

दंत मरीजों की होगी खोज

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी और गैर संचारी रोगों के नोडल अधिकारी डॉ उमेश चंद्र वर्मा ने बताया जिले सीएचओ और स्वास्थ्य कर्मियों की मदद से मुख एवं दंत मरीजों की खोज कि जाएगी। जिन मरीजों को मुख या दंत संबंधी रोगों की संभावना होगी, उनका विवरण फार्म में भरा जाएगा और ऐसे मरीजों को संबंधित हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर पर सीएचओ द्वारा देखा जायेगा। जिला सामुदायिक स्वास्थ्य प्रक्रिया प्रबंधक रणविजय प्रताप सिंह ने बताया कि अभियान के दौरान आशा व एएनएम प्राथमिक स्तर पर मुख एवम दंत रोगियों की खोज करेंगी। उसकी जानकारी पोर्टल पर अपलोड होगी साथ ही उनका इलाज किया जाएगा।

अभियान का उद्देश्य जागरूकता फैलाना

अभियान के नोडल अधिकारी ने बताया इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य मुख एवं दन्त स्वास्थ्य के प्रति जनसमुदाय को जागरूक करना है। मुख एवं दंत रोगों की पहचान जैसे डेंटल कैरीज,पायरिया,फ्लोरेसिस, पायरिया,क्लेफ्ट लिप, टेढ़े-मेढ़े दांत,मुंह में छाले, मसूड़ों में खून, दांत में दर्द के साथ-साथ जनसमुदाय को तम्बाकू, सुपारी, धूम्रपान इत्यादि के दुष्प्रभावों के बारे में सामुदायिक व वीएचएसएनसी बैठकों के माध्यम से जागरूक किया जाएगा।

करे पौ‌‌ष्टिक भोजन

नोडल अधिकारी ने बताया दांतों को स्वच्छ एवं स्वस्थ रखने के लिए पौष्टिक भोजन जैसे कि दही, दालें, फल, हरी सब्जियों का अत्यधिक प्रयोग करें। दांतों पर चिपकने वाली चीजें टाफी, चाकलेट, मिठाई का सेवन न करें। रेशे युक्त पदार्थों का सेवन करें। दिन में दो बार सुबह एवं रात्रि सोने से पहले ब्रश अवश्य करें। नशे के उत्पाद तंबाकू, सिगरेट, बीडी, शराब, गुटखा, पान, सुपारी, जर्दा, खैनी का सेवन न करें। टूथब्रश प्रत्येक तीन महीने में अथवा इसके रेशे मुड़ जाएं तो अवश्य बदल दें।

खबरें और भी हैं...