फर्रुखाबाद कमालगंज में तीन दुकानों से जेवरात सहित सामान चोरी:कस्बे में एक साथ तीन दुकानों में चोरी होने से पुलिस के गश्त की खुली पोल

फर्रुखाबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुकान में चोरी होने के बाद सामान को देखता सर्राफ। - Dainik Bhaskar
दुकान में चोरी होने के बाद सामान को देखता सर्राफ।

फर्रुखाबाद जनपद के कमालगंज कस्बे में रविवार की रात चोरों ने तीन दुकानों को निशाना बनाया। जहां चोरों ने ज्वैलर्स की दुकान से नकदी सहित जेवरात चोरी कर ले गए। अन्य दो दुकानों ने नकदी सहित सामान ले गए। एक साथ बाजार में तीन दुकानों से चोरी होने से लोग पुलिस के गश्त पर सवाल उठा रहे हैं।

कमालगंज के जरारी मार्ग पर धीरू सिंह के मार्केट में ही तीनों दुकानें स्थित है। जिसमें फर्रुखाबाद के मोहल्ला नितगंजा दक्षिण निवासी धर्मेंद्र कुमार वर्मा की ज्वैलर्स की दुकान है। धर्मेंद्र कुमार रविवार शाम करीब 5.45 बजे दुकान बंद कर घर चले गए थे। सोमवार सुबह करीब 7.30 बजे ज्वैलर्स की दुकान के पास स्थित बाइक मिस्त्री ने दुकान खोली तो सामान अस्त व्यस्त था तथा ज्वैलर्स की दुकान के पीछे की दीवार में नकब लगी थी। मिस्त्री ने दुकान मालिक के बेटे नरेंद्र को जानकारी दी। नरेंद्र ने दुकान पहुंच कर घटना की जानकारी सर्राफा व्यापारी को दी। सर्राफा व्यापारी ने दुकान पहुंच कर पुलिस को सूचना दी। खुदागंज चौकी प्रभारी आनंद शर्मा मौके पर पहुंचे। सर्राफा व्यापारी ने बताया कि चोर दराज में रखे करीब 25,000 से 30,000 हजार रुपये एवं काउंटर में रखी अंगूठी, पायल के डिब्बे एवं गिरवी की गांठे ले गए हैं। दुकान में रखी तिजोरी तोड़ने का प्रयास किया गया, लेकिन तिजोरी के ताले नहीं खोल सके है।

सीसी कैमरे की मशीन भी ले गए चोर

सर्राफ व्यापारी ने बताया चोर सीसी कैमरे की मशीन व एलईडी साथ ले गए। एलईडी तो दुकान के पीछे स्थित दुकान मालिक धीरू सिंह के खेतों में पड़ी मिल गई, परंतु मशीन का कोई पता नहीं है।सर्राफा व्यापारी के पास ही स्थित होम्योपैथिक चिकित्सक डा. शिवमोहन की दुकान का शटर तोड़कर घुसे चोर दराज में रखी नकदी चुरा ले गए। शिवमोहन ने बताया मूंगफली बिक्री के तीस हजार, दवा के पांच हजार व ब्रिकी के एक हजार रुपये चोर ले गए। मूंगफली के रुपये बैंक में डालने थे, लेकिन रविवार होने के कारण दुकान की दराज में रख दिए थे। बाइक मिस्त्री नरेंद्र ने बताया कि दुकान में करीब 1200 रुपये रखे थे, जो चोर ले गये। क्षेत्राधिकारी अमृतपुर रवींद्र नाथ राय व थानाध्यक्ष अमरपाल सिंह ने घटनास्थल पहुंचकर सर्राफा व्यापारी, होम्योपैथिक चिकित्सक व बाइक मिस्त्री से जानकारी लेकर मामले की जांच की।

खबरें और भी हैं...