फर्रुखाबाद को गंगा एक्सप्रेस-वे से जोड़ने की मांग:काली पट्टी बांधकर किया गया विरोध, कहा- एक्सप्रेस-वे को नहीं जोड़ने पर चुनाव में नहीं देंगे वोट

फर्रुखाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अपनी मांगों को लेकर पीएम के नाम सौंपा गया ज्ञापन पत्र। - Dainik Bhaskar
अपनी मांगों को लेकर पीएम के नाम सौंपा गया ज्ञापन पत्र।

फर्रुखाबाद में अखिल भारतीय युवा जन सेवा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष मोहित गुप्ता ने गंगा एक्सप्रेस-वे की मांग को लेकर टाउनहाल स्थित गांधी प्रतिमा पर एक दिन का उपवास रखकर तहसीलदार राजू कुमार को ज्ञापन सौंपा।

गंगा एक्सप्रेस-वे जनपद से होकर निकाला जाए मांग को लेकर गांधी जयंती पर उपवास किया गया। जनहित मांग को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारी भी उपवास कार्यक्रम में शामिल हुए। सभी ने काली पट्टी बांधकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कहा कि गंगा एक्सप्रेस-वे फर्रुखाबाद को नहीं मिला तो आगामी विधानसभा चुनाव में वोट नहीं देंगे।

एक्सप्रेस-वे बनने से किसानों को मिलेगा लाभ

कई समाजसेवी संगठनों ने उपवास कार्यक्रम का समर्थन किया। प्रधानमंत्री सम्बोधित ज्ञापन सदर तहसीलदार राजू कुमार को सौंपा गया। ज्ञापन में कहा गया कि फर्रुखाबाद में मिलिट्री राजपूत का ट्रेनिंग सेंटर है।

पूरे भारत से युवा भर्ती के लिए यहीं आते हैं। एशिया की सबसे बड़ी आलू की मंडी फर्रुखाबाद में है। यहां से आलू पूरे देश में सप्लाई होता है। जनपद अभी तक किसी भी एक्सप्रेस-वे से नहीं जोड़ा गया है। जिस कारण फर्रुखाबाद जिला पिछड़ गया है। साथ ही मिनी काशी फर्रुखाबाद में है। गंगा एक्सप्रेस-वे बनने से किसानों को लाभ मिलेगा।

खबरें और भी हैं...