फर्रुखाबाद में 3 माह में 35 हजार चालान:बिना हेलमेट और सीट बेल्ट वालों के कटे चालान, पुलिस बोली- जागरूकता अभियान के बाद भी लोग कर रहे लापरवाही

फर्रुखाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फर्रुखाबाद में लोग यातायात नियमों का पालन करने में लापरवाही बरत रहे हैं। इसी का नतीजा है कि बीते 3 माह में जिले में लगभग 35,000 के आसपास चालान काटे गए हैं, जहां सर्वाधिक चालान बिना हेलमेट वालों के काटे गए हैं।

सड़क दुर्घटना कम हो, इसको लेकर साल में 3 बार सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जाता है, वहीं 2 बार यातायात माह मनाया जाता है। इस दौरान लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया जाता है। वहीं स्कूलों, कॉलेजों में प्रतियोगिताओं का आयोजन होता है। इससे छात्र-छात्राएं अपने अभिभावकों को यातायात नियमों का पालन करने के बारे में जागरूक कर सकें। इसके बाद भी लोग यातायात नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। फर्रुखाबाद जनपद में जनवरी, फरवरी और मार्च माह में लगभग 35,000 वाहनों के यातायात नियमों का पालन न करने पर चालान काटे गए।

26 हजार बिना हेलमेट वालों के चालान
बाइक सवार हेलमेट नहीं लगा रहे हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिले में 3 माह में 26,000 चालान बिना हेलमेट के काटे गए हैं। वहीं 6000 के करीब चालान एक बाइक पर तीन सवार लोगों के काटे गए हैं। इसके अलावा अन्य चालान सीट बेल्ट और यातायात नियमों का पालन न करने पर काटे गए हैं।

बिना हेलमेट गई जान
3 दिन पूर्व कायमगंज कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत गांव घसिया चिलौली निवासी अंकुर बाइक से जलालाबाद जा रहा था, जहां रामगंगा पुल के पास उसकी बाइक ट्रैक्टर से टकरा गई। इससे अंकुर के सिर में चोट आई। परिजन उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां चिकित्सक द्वारा बताया गया सिर में ब्लड का थक्का जम गया है। वहीं अगले दिन उसकी मौत हो गई। चिकित्सक डॉक्टर विकास शर्मा का कहना था, अगर यह हेलमेट पहने होता तो उसकी जान बच सकती थी। हेलमेट से सिर में चोट नहीं आती।

खबरें और भी हैं...