काली मां की पूजा अर्चना:करमाटांड़, फतेहपुर, बिंदापाथर क्षेत्र में धूमधाम से हुई काली पूजा, दीपावली का दिखा उत्साह

फतेहपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
करमाटांड़़ में स्थापित मां काली की प्रतिमा। - Dainik Bhaskar
करमाटांड़़ में स्थापित मां काली की प्रतिमा।

प्रखंड अंतर्गत ताराबहाल पंचायत के कमारडीह गांव के काली मंदिर में प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी धूमधाम से काली पूजा की गई। इस वर्ष वैश्विक महामारी कोरोना को ध्यान रखते हुए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का पालन करते हुए माता की पूजा अर्चना की गयी। पूजा का संचालन सहदेव दास एवं दुलाल दास के द्वारा किया जा रहा है। इसमें समस्त ग्रामीणों का भी सहयोग हैं। स्थानीय युवा समाजसेवी परमेश्वर दास ने बताया कि यहाँ पिछले 36 वर्षों से काली पूजा बड़े ही हर्षोल्लास के साथ की जा रही हैं, बृहस्पतिवार रात्रि को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भव्य कलश यात्रा निकाली जाएगी। उसके बाद देर रात पूरे विधि-विधान एवं वैदिक मंत्रोच्चार के साथ माता काली की प्रतिमा का पूजा अर्चना की जायेगी। संध्या संस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। मौके पर रोशन लाल दास, मिथुन दास, चौधरी दास, बालकिशन दास, अभिजीत दास, बिनोद दास आदि उपस्थित थे।

फतेहपुर प्रखंड क्षेत्र के गांवों में श्रद्धाभाव से हुई भगवान कुबेर देव की पूजा

फतेहपुर प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न गांवों में दीपों का त्योहार दीपावली, काली पूजा धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ। दीपावली को लेकर हर घर दीपों के प्रकाश से जगमग कर रहे है। गृहस्थ परिवार एवं दुकानदारों ने माता लक्ष्मी, कुबेर देव की पूजा अर्चना कर सदैव स्थिर रहने की प्रार्थना किये एवं अलक्ष्मी को दूर रहने के लिए कहा गया। परजपेटिया,धावा,जगरनाथपुर, अम्बाबांक सहित कई गांवों मे दीपान्विता के साथ माता काली का पूजा भी पूजा अर्चना किया गया। अम्बाबांक गांव मे सिंह परिवार के द्वारा करीब दो सौ वर्ष पूर्व से मूर्ति स्थापित कर माता काली का पूजा अर्चना किया जाता है। सिंह परिवार के बलदेव सिंह ने बताया कि हमारे पूर्वजो ने कार्तिक अमावस्या को 200 वर्षों से मूर्ति स्थापितकर पूजा करते रहे हैं। परम्परा के साथ आज भी हमारे परिवार मे श्रद्धा पूर्वक माता की पूजा कर रहे है। माँ के दरवार में अंबाबांक, डुमरिया सहित अगल बगल के भक्तों द्वारा माता के दरवार मे पहुंच कर भक्ति भाव से पूजा अर्चना कर मन्नते मांगते है, मां के दरवार पहुचे सभी भक्तों की मुरादें माता पूर्ण करती है। भाई फोंटाअर्थात भातृ द्वितीया आज बंगाली समुदाई के लोगों द्वारा मनाया जाएगा।

फतेहपुर में धूमधाम से मनाई गई दिवाली प्रखंड क्षेत्र में बृहस्पतिवार को धूमधाम से मनाया गया। दीपावली का त्यौहार में बच्चों ने भी खूब पटाखे छोड़े। प्रखंड क्षेत्र के सभी पंचायतों एवं गांव में बृहस्पतिवार को ग्रामीणों ने बहुत ही धूमधाम से दीपावली का त्यौहार मनाया। लोगों ने अपने घर के अंदर और बाहर मिट्टी के दिया में घी डालकर दीप जलाएं। इसके अलावा रंग बिरंगी लाइटों ने भी सबका मन मोह लिया। इतना ही नहीं जगह जगह पर आकर्षक रंगोली देखने योग्य बना हुआ था। घर-घर में लक्ष्मी गणेश की पूजा-अर्चना किया गया।

नाला | नाला प्रखंड क्षेत्र में उत्साह व भक्तिमय वातावरण काली पूजा एवं दीपावली पर्व मनाया गया। मोबाइल संदेश के माध्यम से बधाई देने का सिलसिला भी देर रात तक जारी रहा। मंदिर में काली माता की मूर्ति पूजा किया गया वहीं घर घर में गणेश लक्ष्मी की पूजा भक्ति के साथ किया गया। रोशनी का इस त्योहार में दीपक और रंग बिरंगी लाइटिंग से पूरा क्षेत्र जगमगा उठा। क्षेत्र के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल देवलेश्वर धाम परिसर में श्रद्धालु द्वारा हजारों की संख्या में दीपक प्रज्वलित किया गया। मौके पर नाला क्षेत्र के अम्बाबांक में काली पूजा का भव्य आयोजन हुआ। आचार्य किरीटी भुषण पांडेय एवं पंडितजी रवीन्द्र नाथ झा के सान्निध्य में कलश यात्रा के साथ साथ वैदिक विधि से पूजा-अर्चना संपन्न हुआ।

खबरें और भी हैं...