फिरोजाबाद में आयकर दाता पा गए 'सम्मान निधि':2 हजार से अधिक अपात्र लोगों ने योजना का लिया लाभ, सिर्फ 171 लोगों ने लौटाई सम्मान निधि

फिरोजाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फिरोजाबाद में किसानों के उत्थान को शुरू की गई 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि' का जिले में अपात्र भी लाभ ले गए। इनकम टैक्स रिटर्न भरने वाले सम्मान निधि पा रहे हैं। जांच में इसका खुलासा तो विभाग में हड़कंप मच गया। अब विभाग उनसे धनराशि वापस लेने के लिए नोटिस बाजी कर रहा है।

वापस नहीं कर रहे धनराशि
किसान सम्मान निधि ले चुके जिले के आयकर दाता सैकड़ों किसान धनराशि वापस नहीं कर रहे हैं। 2,136 में से मात्र 171 ने ही सरकार को रुपए वापस किए हैं, जबकि कृषि विभाग किसानों को 2 बार नोटिस भेज चुका है। अब रिकवरी की तैयारी है। केंद्र सरकार छोटे-बड़े सभी किसानों को साल में 6 रुपए रुपए की किसान सम्मान निधि 3 किस्तों में देती है, लेकिन आयकर दाता किसान इसके पात्र नहीं हैं।

10 माह पूर्व सरकार ने ऐसे किसानों के नाम सूची से हटाने के साथ ही तब तक भेजी जा चुकी सम्मान निधि वापस कराने के निर्देश अधिकारियों का दिए थे। इसके बाद तत्कालीन उप कृषि निदेशक हंसराज ने किसानों को नोटिस जारी किए थे।

171 किसानों ने ही वापस की धनराशि
फील्ड कर्मचारियों को भी किसानों के पास भेजकर धनराशि वापस करने के लिए कहा गया। इसके बाद एक-एक नोटिस और भेजा गया, लेकिन अब तक मात्र 171 किसानों ने ही 15.42 लाख रुपए वापस किए हैं। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि बाकी 1,965 आयकर दाता किसानों को 50 लाख से एक करोड़ रुपए वापस लौटाने हैं।

उप कृषि निदेशक एच.एन सिंह ने बताया, आयकर दाता किसानों को सम्मान निधि वापस किए जाने के लिए संपर्क किया गया। इसके बाद नोटिस भी भेजे गए। इसके बाद भी पैसा वापस नहीं किया जा रहा है। किश्त की राशि वापस न करने वाले किसानों की रिकवरी निकाली जाएगी।

खबरें और भी हैं...