जसराना विधानसभा चुनाव को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर:फिरोजाबाद में भाजपा प्रत्याशी ने मतगणना पर उठाए सवाल, चुनाव में सपा प्रत्याशी की हुई थी जीत

फिरोजाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा प्रत्याशी मानवेंद्र सिंह लोधी - Dainik Bhaskar
भाजपा प्रत्याशी मानवेंद्र सिंह लोधी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव संपन्न हो गए। मंत्रिमंडल का गठन हो गया। नई सरकार ने कामकाज शुरू कर दिए। अब इसके बाद फिरोजाबाद की जसराना विधानसभा से चुनाव हारे भाजपा प्रत्याशी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। वर्तमान में सपा प्रत्याशी की जीत हुई है।

सचिन यादव बने हैं विधायक
जिले के जसराना विधानसभा से चुनाव जीतकर सपा के सचिन यादव विधायक बने हैं। उन्होंने भाजपा के मानवेंद्र प्रताप सिंह को मामूली मतों से हराया था। भाजपा प्रत्याशी ने मतगणना पर सवाल उठाते हुए इस सीट के चुनाव परिणाम के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। जसराना विधानसभा से भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़े पूर्व जिलाध्यक्ष मानवेंद्र प्रताप सिंह ने मतगणना की निष्पक्षता पर सवाल उठाते हुए उच्च न्यायालय में रिट दायर की है। उन्होंने कहा कि खराब ईवीएम वाले वीवीपैट को खुलवाकर उनकी काउंटिंग या रीपोल कराया जाए। बता दें कि जसराना से विधानसभा चुनाव जीतकर सपा के इंजीनियर सचिन यादव विधायक बने हैं।

सबसे अंत में हुआ था परिणाम घोषित
जिले की जसराना विधानसभा का चुनाव परिणाम सबसे अंत में घोषित किया गया था। परिणाम को लेकर मतगणना केंद्र शिकोहाबाद मंडी प्रांगण के बाहर काफी हंगामा हुआ था। आखिर प्रशासन ने सपा प्रत्याशी इंजीनियर सचिन यादव को 836 मतों के अंतर से विजयी घोषित किया था। परिणाम घोषित होने एवं प्रमाणपत्र जारी होने के साथ ही हंगामा समाप्त हो गया था। मतगणना पर सवाल उठाते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। उन्होंने सपा विधायक इंजीनियर सचिन यादव सहित आठ अन्य को प्रतिवादी बनाया है।

34 की जगह हुए 36 राउंड
भाजपा प्रत्याशी मानवेंद्र प्रताप सिंह ने विधानसभा चुनाव परिणाम पर सवाल उठाते हुए रिट याचिका दायर की है। उन्होंने कहा कि जसराना विधानसभा की मतगणना 34 राउंड में होनी चाहिए लेकिन इसमें दो राउंड 35 एवं 36 कैसे बढ़ गए। इसकी जानकारी नहीं दी गई थी। भाजपा प्रत्याशी ने 23 बूथों पर वीवीपैट को खुलवाकर उनकी गिनती कराने या फिर दोबारा से चुनाव कराए जाने की बात रखी है। उन्होंने कहा कि जसराना विधानसभा में जितनी ईवीएम खराब हुईं उतनी कहीं खराब नहीं हुई।

खबरें और भी हैं...