पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

UP में डेंगू का कहर:फिरोजाबाद में 24 घंटे में बुखार से 13 की मौत, अब तक 128 लोगों ने गंवाई जान; कासगंज में भी 6 लोगों ने दम तोड़ा

फिरोजाबाद11 दिन पहले
फिरोजाबाद में सरकारी अस्पताल में चीख-पुकार मची हुई है। मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड नहीं मिल रहे हैं।

फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल बुखार का कहर जारी है। शनिवार को न्यू रामगढ़, हाथवंत, गढ़ी जरारी, रहना, पोपगढ़ के अलावा अन्य क्षेत्रों में रिकॉर्ड 13 की मौत हो गई। इनमें आठ बच्चे शामिल हैं। कुल मौतों का आंकड़ा 128 पहुंच गया है। सरकारी अस्पताल में मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड नहीं मिल रहे हैं। उधर, कासगंज में भी हालात खराब होते जा रहे हैं। यहां पिछले 24 घंटे में 6 लोगों की बुखार से मौत हो गई।

सबसे ज़्यादा बच्चों की मौत

झलकारी नगर गली नंबर तीन के रहने वाले शिवम (14) पुत्र संजय शखंवार ने शनिवार को आगरा में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। तीन दिन पहले शिवम को बुखार आया था। प्रकाश टॉकीज के पास निवासी माधव (06 माह) पुत्र त्रिलोकीनाथ, जैन नगर खेड़ा निवासी नंदनी गुप्ता (11) पुत्र सुमित गुप्ता की मौत हो गई है। यशोदा (12) पुत्री अनिल सविता ने सौ शैय्या अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। न्यू रामगढ़ के रहने वाले मानव (6) पुत्र रूपकिशोर को सौ शैय्या अस्पताल में भर्ती कराया था। शुक्रवार देर रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पीपल नगर में रवि (6) पुत्र श्रीकृष्ण ओझा ने दिल्ली में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पुरानी आबादी रहना में डेंगू से पीड़ित रितु शुक्ला (25) पत्नी प्रशांत शुक्ला ने निजी अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। हाथवंत के गांव पोपगढ़ निवासी रोहित (2) पुत्र दिनेश कुमार को गंभीरवस्था में सौ शैय्या अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सक ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया।

श्रीराम कॉलोनी में रिषी (13) पुत्र वीनेश कुमार ने भी सौ शैय्या अस्पताल में दम तोड़ दिया। गली बोहरान की रहने वाली सुनीता (52) पुत्री अजय कुमार का डेंगू का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा था। तबीयत बिगड़ने पर उनकी मौत हो गई। मथुरा नगर की नंदनी यादव (12) पुत्र सुनील यादव, गढ़ी सिधारी गांव की मुन्नी देवी (56) पत्नी अनेक सिंह की मौत हुई है। भीमनगर गली नंबर तीन में संस्कार (5) पुत्र वीरपाल की मौत हो गई।

सरकारी अस्पताल में मरीजों को भर्ती के बेड तक नहीं मिल रहे हैं।
सरकारी अस्पताल में मरीजों को भर्ती के बेड तक नहीं मिल रहे हैं।

सरकारी अस्पताल में खाली नहीं बेड

डेंगू, मलेरिया वायरल बुखार का कहर हर रोज भयावह रूप धारण करता जा रहा है। अब तो लोग डरे और सहमे देखे जा रहे हैं। अस्पतालों में चीख पुकार की गूंज सुनाई दे रही है। सरकारी अस्पताल में मरीजों को भर्ती के बेड तक नहीं मिल रहे है। लोगों को अपने मरीज भर्ती कराने के लिये सत्ताधारी दल के नेताओं का सहारा लेना पड़ रहा है। शहर से लेकर गांवों तक घर-घर चारपाइयां बिछी हुई हैं। लोगों में स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के अधिकारियों को लेकर गुस्सा नजर आ रहा है।

निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सौ शैय्या अस्पताल में गंभीर हालत में आने वाले मरीजों को ही भर्ती किया जा रहा है।
निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सौ शैय्या अस्पताल में गंभीर हालत में आने वाले मरीजों को ही भर्ती किया जा रहा है।

सौ शैय्या अस्पताल में 429 मरीज भर्ती

राजकीय मेडिकल कॉलेज स्थित सौ शैय्या अस्पताल में 24 घंटे में कराई गई एलाइजा जांच में 101 नए मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है। वर्तमान में सौ शैय्या अस्पताल में 429 मरीज भर्ती हैं। इधर, निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सौ शैय्या अस्पताल में गंभीर हालत में आने वाले मरीजों को ही भर्ती किया जा रहा है। शनिवार को सौ शैय्या अस्पताल के महिलाएं अपने बीमार बच्चों को गोद में लिए रोते-बिलखते दिखाई दिए।

राजकीय मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य डॉ. संगीता अनेजा ने कहा कि वर्तमान में अस्पताल में 429 मरीज भर्ती हैं।
राजकीय मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य डॉ. संगीता अनेजा ने कहा कि वर्तमान में अस्पताल में 429 मरीज भर्ती हैं।

राजकीय मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य डॉ. संगीता अनेजा ने कहा कि वर्तमान में अस्पताल में 429 मरीज भर्ती हैं। मरीजों को इलाज मुहैया कराया जा रहा है। बच्चे जल्दी रिकवर हो रहे हैं। प्लेटलेट्स अभी ज्यादा गंभीर बच्चों को चढ़ाई जा रही है।

बच्चों को भर्ती कराने के लिए भटक रहे तीमारदार।
बच्चों को भर्ती कराने के लिए भटक रहे तीमारदार।

कासगंज में बुखार से छह मरीजों की मौत
कागसंज में शुक्रवार की रात और शनिवार को बुखार से पीड़ित छह मरीजों की मौत हो गई। पटियाली व गंजडुंडवारा इलाका सबसे अधिक संवेदनशील है। यहां तीन-तीन मरीजों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग की जांच में डेंगू के पॉजिटिव मामले पाए गए। उधर, शनिवार को मेडिकल कॉलेज की लैब में एक बच्ची सहित छह लोगों मे डेंगू के लक्षण मिले। जबकि एक महिला में मलेरिया की पुष्टि हुई। डॉ. अंशुल गुप्ता ने बताया कि शनिवार को मैनपुरी निवासी एक बच्चा डेंगू के लक्षण वाला भर्ती किया गया है।

खबरें और भी हैं...