UP के 4 जिलों में बुखार से 116 मौतें:फिरोजाबाद में 65 बच्चों सहित 75 मौतें; मथुरा में 12 और मैनपुरी में 20 ने बुखार से दम तोड़ा, फर्रुखाबाद में भी 9 की जान गई

फिरोजाबाद/मथुरा/मैनपुरी/फर्रुखाबाद3 महीने पहले

उत्तर प्रदेश में बुखार का कहर बढ़ता जा रहा है। चार जिलों में अब तक 116 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा फिरोजाबाद में 75 लोगों की जान जा चुकी है। इनमें 65 बच्चे थे। बुखार से जान गंवाने वाले 50 बच्चों के ब्लड सैंपल की जांच हुई। इसमें मालूम चला कि इन बच्चों की मौत डेंगू से हुई थी। केंद्र सरकार ने लगातार हो रहीं मौतों को संज्ञान में लिया है। स्वास्थ्य विभाग की एक टीम जल्द फिरोजाबाद जाएगी।

उधर, मथुरा में बुखार से अब तक 12 और मैनपुरी में 20 लोगों की मौत हो चुकी है। फर्रुखाबाद में भी बुखार की चपेट में आकर 9 लोग दम तोड़ चुके हैं। आगरा और बागपत में भी बुखार, डेंगू के मरीज बढ़ रहे हैं।

फिरोजाबाद: 24 घंटे में 8 बच्चों सहित 12 की मौत
फिरोजाबाद में अब तक 75 मौतें हो चुकी हैं। पिछले 24 घंटे के अंदर 8 बच्चों सहित 13 लोगों ने जान गंवा दी। इनमें छह महीने की मनु, 9 साल के हर्ष, 25 साल की मनीषा, 12 साल के शुभ, 10 साल के मानव, 5 साल की नैनसी, 13 साल की कामिनी, 11 साल के हसनल शामिल हैं।

पूरे जिले में लगातार हालात खराब होते जा रहे हैं। मरीजों की संख्या बढती जा रही है जबकि अस्पतालों में बेड फुल हैं। मेडिकल कॉलेज और जिला चिकित्सालय में जांच के लिए लंबी लाइन लगी हुई है। बढ़ते मामले को देखते हुए 24 नए डॉक्टरों को तैनात किया गया है।

इनमें बांदा और कानपुर मेडिकल कॉलेज से दो एसोसिएट प्रोफेसर, एसएन मेडिकल कॉलेज आगरा से एक असिस्टेंट प्रोफेसर, कन्नौज से दो सीनियर डॉक्टर भेजे गए हैं। इसके साथ ही अन्य जिलों से भी डॉक्टरों को फिरोजाबाद में लगाया गया है। उधर, केंद्र सरकार ने भी हालात का जायजा लेने और लगातार हो रहीं मौतों का कारण जानने के लिए एक टीम भेजने का फैसला लिया है। इस टीम में नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (NCDC) और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के सदस्य शामिल होंगे।

फिरोजाबाद में बढ़ती बीमारी को देखते हुए 24 नए डॉक्टरों को तैनात किया गया है।
फिरोजाबाद में बढ़ती बीमारी को देखते हुए 24 नए डॉक्टरों को तैनात किया गया है।

मथुरा: नहीं थम रहा मौतों का सिलसिला, अब तक 12 मौत

मथुरा में डेंगू, मलेरिया और वायरल फीवर से मरने वालों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा। गुरुवार को 11 वर्ष के बच्चे की मौत के बाद आंकड़ा 12 पर पहुंच गया। मरीजों की संख्या भी अब करीब 50 है। इनका मथुरा और आगरा के अस्पतालों में इलाज चल रहा हैं। मौत का आलम यह है कि मथुरा में 23 दिन में 12 की मौत हुई है। मथुरा का फरह ब्लॉक और गोवर्धन ब्लॉक सबसे ज्यादा प्रभावित है।

मथुरा में 23 दिन में 12 की मौत हुई है।
मथुरा में 23 दिन में 12 की मौत हुई है।

मैनपुरी: यहां एक महीने में हुई 20 मौतें

फिरोजाबाद से सटा हुआ जिला मैनपुरी भी डेंगू और वायरल बुखार से अछूता नहीं है। यहां एक महीने में ही 20 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें बड़े बच्चे सभी शामिल हैं। जबकि बीते तीन दिन में ही पांच की मौत हुई है। वरनाहल गांव के हालत तो बहुत ही खराब हैं, बीते 10 दिन में 200 से ज्यादा लोग यहां बुखार की चपेट में आए हैं। आलम यह है कि हर घर की चारपाई पर मरीज है। स्वास्थ्य विभाग अस्थायी कैंप लगाकर इलाज कर रहा है।

मैनपुरी के 10 गांव में हर घर में मरीज है।
मैनपुरी के 10 गांव में हर घर में मरीज है।

फर्रुखाबाद: यहां 10 दिन में 9 मौत हुई

फर्रुखाबाद के जहानगंज थाना क्षेत्र में लगभग एक दर्जन से ज्यादा गांव बुखार से पीड़ित हैं। बीते दस दिन में ही 9 लोगों की मौत हुई है। जबकि बीते 3 दिन में 4 की मौत हो चुकी है। यहां वाहिदपुर, जरारी, मूसाखिरिया, कोठी, पतोजा जैसे गांव शामिल हैं। दस से ज्यादा गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीमें काम कर रही है, लेकिन मामला संभालने में नाकाम हो रही है। हर घर में मरीज है। जिनका इलाज या तो झोलाछाप कर रहे हैं या फिर मरीज निजी चिकित्सालयों में जा रहे हैं। सीएमओ सतीश चंद्र ने भी जिले में वायरल, डेंगू मलेरिया से 9 मौतों की पुष्टि की है।

सीएमओ सतीश चंद्र ने भी जिले में वायरल, डेंगू मलेरिया से 9 मौतों की पुष्टि की है।
सीएमओ सतीश चंद्र ने भी जिले में वायरल, डेंगू मलेरिया से 9 मौतों की पुष्टि की है।
खबरें और भी हैं...