• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Firozabad
  • Water Entered The Canal Closed Due To Heavy Rain, Water Entered The Fields Due To Bad Tracks On The Banks; Hundreds Of Bighas Of Paddy Crop Submerged

फिरोजाबाद में खेतों में घुसा नहर का पानी:तेज बारिश से बंद नहर में आया पानी, किनारे पर बनी खराब पटरियों के चलते खेतों में घुसा पानी; सैकड़ों बीघा धान की फसल हुई जलमग्न

फिरोजाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फिरोजाबाद में बंद नहर में घुसा बारिश का पानी, पटरियों से निकलकर खतों में घुसा, सैकड़ों बीघे फसल हुई जलमग्न। - Dainik Bhaskar
फिरोजाबाद में बंद नहर में घुसा बारिश का पानी, पटरियों से निकलकर खतों में घुसा, सैकड़ों बीघे फसल हुई जलमग्न।

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में सैकड़ो बीघा फसल बाढ़ के पानी में बह गई। किसानों का कहना है कि एटा जिले की सीमा से लगे एका क्षेत्र के गांवों में अधिक बरसात होने पर खारजा नहर में पानी आ जाता है। किनारे पर बनी खराब पटरियों के चलते पानी खेतों में घुसा जिससे धान की सैकड़ों बीघा फसल खराब हुई। साथ ही बाजरे की बुवाई भी प्रभावित हुई है। किसान मौके पर पहुंचे एसडीएम और सिंचाई विभाग के अधिकारियों से मुआवजे की मांग कर रहे है।

बंद नहर में अचानक आया पानी
मामला नानऊ से जेड़ाझाल तक आने वाली खारजा नहर का है। यह नहर बंदी पड़ी है, इसमें पानी नहीं था। शुक्रवार को बरसात के बाद नहर में अचानक पानी आ गया। पानी का बहाव काफी तेज था। जिसके चलते वह किनारे पर बनी पटरियों से निकलकर खेतों में घुस गया। जिससे सैकड़ों बीघा रोपी गई धान की फसल नष्ट हो गई। यहां तक की दूसरी फसलों की बुवाई भी प्रभावित हो गई। मामले की सूचना मिलते ही ग्रामीणों में हड़कंप मच गया।

ग्रामीणों ने की मुआवजे की मांग
घटना की सूचना मिलते ही एसडीएम विवेक कुमार मिश्रा के साथ सिंचाई विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। एसडीएम से लोगों ने मुआवजे की मांग की है। एसडीएम ने बताया कि बंद पड़ी नहर में बरसात का पानी आने से खेतों में पानी चला गया है। नहर की पटरी सही कराने के साथ पानी को नियंत्रित करने का प्रयास किया जा रहा है। नुकसान का आंकलन कराया जाएगा। ग्रामीणों ने अधिकारियों को बताया कि दो हजार बीघा फसल नष्ट हुई है। उसका आंकलन करवाकर प्रशासन मुआवजा दे और पानी रुकवाने की व्यवस्था भी करे।

खबरें और भी हैं...