पुलिस पर लगा महिला की हत्या का आरोप:फिरोजाबाद में जांच करने गई थी पुलिस, महिला ने दरवाजा खोला तो दिया धक्का; SSP ने पूरे थाने पर लिखाई FIR

टूण्डला, फिरोजाबाद7 महीने पहले

चंदौली कांड की आग अभी तक ठंडी भी नहीं हुई थी कि फिरोजाबाद में भी उसी तरह का मामला सामने आया है। आरोप है, दबिश देने गई पुलिस ने एक दलित महिला से बदसलूकी की। पुलिस ने महिला को धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया। जमीन पर गिरने से उसकी मौत हो गई। महिला के बेटों ने पुलिस पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। कहा, घटना के बाद पुलिस शव को लेकर गांव से भाग गई। अब फर्जी मुकदमे में फंसाने की घमकी दे रही है। वहीं SSP आशीष तिवारी के आदेश पर 3 ग्रामीण, 2 अन्य व पचोखरा थाने पर FIR दर्ज की गई है।

बता दें, मामला पचोखरा थाना क्षेत्र के इमलिया नगला गांव का है। गांव की रहने वाली 60 वर्षीय शारदा देवी की शनिवार देर रात संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई, जबकि परिजन पुलिस पर हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं। परिजनों के मुताबिक, घर पर रात को मां शारदा देवी के अलावा बहन मोनिका और पत्नी गुंजन सो रही थीं।

पोस्टमार्टम हाउस के बाहर खड़े मृतक महिला के परिजन।
पोस्टमार्टम हाउस के बाहर खड़े मृतक महिला के परिजन।

रात्रि करीब 12 बजे पुलिस उनके घर पहुंची। दरवाजा खटखटाया तो मां की नींद खुल गई। जब मां ने जाकर दरवाजा खोला तो पुलिस ने उन्हें धक्का दे दिया, जिससे जमीन पर गिरने से उनकी मौत हो गई। जब हम लोगों ने विरोध किया तो पुलिस फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर शव अपने साथ ले गई। आज सुबह जानकारी हुई कि उनकी मां का शव पोस्टमार्टम हाउस पर रखा हुआ है।

जांच करने गए थे, कुछ देर मिली मौत की सूचना
इस घटना को लेकर थानाध्यक्ष संजुल पांडे का कहना है, मृतका के बेटे शनिवार सुबह जेल से छूटकर आए थे। पुलिस गांव में जांच करने गई थी। इस मामले में SSP आशीष तिवारी ने बताया, जो लोग जेल से छूटे थे, उनकी जांच करने के लिए पुलिस वहां गई थी और उसके बाद वापस लौट आई थी, लेकिन उसके कुछ देर बाद सूचना मिली कि वहां एक महिला की मौत हो गई है, जिस पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया था।

SSP आशीष तिवारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।
SSP आशीष तिवारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

SSP आशीष तिवारी ने बताया, 3 डॉक्टरों के गठित पैनल द्वारा शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। उसकी वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है। मौके पर शांति व्यवस्था कायम है। फिलहाल 3 ग्रामीण, 2 अन्य व पचोखरा थाने पर FIR दर्ज की गई है। जांच की जा रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर FIR दर्ज की जाएगी।

लेन-देन के विवाद में बेटे गए थे जेल
बताया जा रहा, इमलिया गांव निवासी फौरन सिंह ने गांव के ही कैलाश बाबू के खेत में आलू की खुदाई की थी। आलू की खुदाई के दौरान हिसाब करने को लेकर दोनों पक्षों के बीच मारपीट हुई थी। जिसमें होली के आस-पास फौरन सिंह पक्ष के 5 लोग जिनमें राहुल, आनंद, जितेंद्र, लायक सिंह, बंटू जेल गए थे। शनिवार सुबह 4 लोग राहुल, आनंद, जितेंद्र और बंटू जमानत पर रिहा होकर घर पहुंचे थे।

खबरें और भी हैं...