यूक्रेन में फंसा दादरी का मेडिकल छात्र:नोएडा के सेक्टर 118 में रह रहा अक्षित का परिवार, यूक्रेन के हारके मेडिकल कॉलेज से कर रहा एमबीबीएस

दादरी, गौतमबुद्ध नगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नोएडा सेक्टर 118 में रहने वाले राजेश कुमार ने अपने बेटे अक्षित के यूक्रेन में होने की आपबीती दैनिक भास्कर से बयां की। सेक्टर 118 में रहने वाले राजेश कुमार ने बताया कि उनका बेटा अक्षित का यूक्रेन के हारके मेडिकल कॉलेज में 2020 एमबीबीएस में दाखिला हुआ था।

उनकी उससे फोन पर बात हुई तो बताया कि कॉलेज वालों की तरफ से एक बंकर में छुपा हुआ है। उसके साथ भारत के और भी बच्चे रुके हुए हैं। उसका कहना है कि जिस बंकर में वह रुका है वहां पर खाने की कमी हो गई है जिसके कारण उन्हें बाहर जाना पड़ता है।

अक्षित का आज जन्मदिन, जश्न की तैयार कर रहा था परिवार

अक्षित का आज जन्मदिन है जिसको लेकर उसके परिवार में तैयारियां चल रही थी घर में कीर्तन कराया जाना था लेकिन उसकी फ्लाइट कैंसिल होने के कारण वह भारत नहीं आ सका। राजेश कुमार ने बताया कि उसको कल भारत वापस आना था लेकिन हमला होने के कारण वह नहीं आ सका।

80 हजार का ऑनलाइन कराया था टिकट

राजेश कुमार ने बताया कि उनके बेटे ने युद्ध की स्थिति को देखते हुए पहले ही ऑनलाइन टिकट बुक कराया था जिसमें भारत का टिकट बेटे का आने के लिए ₹80,000 का टिकट बुक हुआ था। राजेश कुमार का कहना है कि जो टिकट 35000 का बुक हो रहा था वह टिकट अब महंगा हो गया है ।बेटे ने ही ऑनलाइन टिकट बुक कराया था। भारत वापस आने के लिए उसने बुक कराया था लेकिन यूक्रेन पर हमला होने के कारण फ्लाइट कैंसिल हो गई।

बच्चों से वीडियो कॉल करने की भी मनाही

यूक्रेन में फंसे बच्चों से भारत में रह रहे परिजन वीडियो कॉल से संपर्क कर रहे हैं जिसमें यूक्रेन में फंसे बच्चे अपनी समस्याओं को भारत में परिजनों तक पहुंचा रहे हैं लेकिन कॉलेज मैनेजमेंट की तरफ से बच्चों से बोला गया है कि वह किसी भी परिजन से वीडियो कॉल कर नहीं सकते।

खबरें और भी हैं...