ज्ञानवापी मामले में टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार:देवरिया के युवक ने भगवान शिव पर की थी अभद्र टिप्पणी, ग्रेटर नोएडा से एमबीए कर रहा है आरोपी

ग्रेटर नोएडा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ज्ञानवापी मामले पर अभद्र टिप्पणी करने वाले को ग्रेटर नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने भगवान शिव पर अभद्र टिप्पणी की थी। आरोपी पर सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने और धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप है। आरोपी एमबीए पास है और देवरिया में एक कोचिंग सेंटर चलाता है।

कासना थाना प्रभारी ने बताया कि काशी में ज्ञानवापी में चल रहे विवाद को लेकर एक युवक के द्वारा ट्विटर पर एक ट्वीट किया गया। जिसमें भगवान शिव को लेकर अभद्र ट्वीट किया गया था। जब उसकी जांच की गई तो उसमें सलेमपुर लिखा हुआ आया। उसकी वजह से हमने कासना थाने में इसके खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया और जांच में जुट गए।

जब ट्वीट के बारे में और ज्यादा जानकारी की गई तो पता चला कि आरोपी देवरिया का रहने वाला है। उसके बाद देवरिया के सलेमपुर थाना क्षेत्र से अतिउर रहमान नाम के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। अतिउर रहमान ने ही अपने ट्विटर हैंडल से ज्ञानवापी मामले को लेकर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का ट्वीट किया था।

देवरिया में कोचिंग चलाता है आरोपी
थाना प्रभारी ने बताया कि अतिउर रहमान ने नोएडा के ही एक कॉलेज से एमबीए की पढ़ाई की थी। फिलहाल वह देवरिया में एक कोचिंग सेंटर चला रहा है। सने पूछताछ में बताया कि सोशल मीडिया पर लगातार चल रहे विवाद को वह देख रहा था और उसी जोश में उसने ट्वीट कर दिया।

पुलिस ने गंभीर धाराओं में किया मुकदमा दर्ज
​​​​​​​
कासना थाना पुलिस ने आरोपी अतिउर रहमान के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने , दो समुदाय के बीच सामाजिक और धार्मिक सौहार्द बिगाड़ने के मामले में मुकदमा पंजीकृत किया है। इस मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 153A/ 295 A और 66 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत किया है।

एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि आपत्तिजनक ट्वीट पर पुलिस के द्वारा तुरंत संज्ञान लिया गया और इस मामले में देवरिया से अतिउर रहमान नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। जिस फोन से उसने ट्वीट किया उसको भी बरामद कर लिया गया है। आरोपी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

खबरें और भी हैं...