ग्रेटर नोएडा में लापरवाही बरतने पर प्राधिकरण ने की कार्रवाई:पार्कों व ग्रीन बेल्ट के रखरखाव में लापरवाही पर फर्मों का रोका गया भुगतान

ग्रेटर नोएडा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रेटर नोएडा के सेक्टरों में पार्कों व ग्रीन बेल्ट के रखरखाव में लापरवाही बरतने पर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के उद्यान विभाग ने दो फर्मों का पूरा और तीन का आंशिक भुगतान रोक दिया है। साथ ही छह फर्मों को चेतावनी नोटिस जारी की गई है। इनको एक सप्ताह का मौका दिया गया है। उसके बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ व मेरठ मंडलायुक्त सुरेन्द्र सिंह ने जिस दिन ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का कार्यभार संभाला था, उसी दिन ग्रेटर नोएडा का भ्रमण कर रोटरी, ग्रीन बेल्ट, पार्क, रोड साइड ग्रीनरी आदि के रखरखाव पर असंतोष जाहिर करते हुए दो सप्ताह में सुधारने के निर्देश दिए हैं। दो सप्ताह बाद दोबारा भ्रमण करने और खामी मिलने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है।

वरिष्ठ प्रबंधक के निरीक्षण के दौरान दिखीं खामियां

सीईओ के निर्देश पर अमल करते हुए उद्यान विभाग के वरिष्ठ प्रबंधक कपिल सिंह और उनकी टीम ने शनिवार को कई सेक्टरों का दौरा किया। इस दौरान सेक्टर गामा वन व टू के पार्क व ग्रीन बेल्ट के रखरखाव में खामी मिली, जिसके चलते मैसर्स भोपाल नाम की फर्म का भुगतान रोकने का आदेश दिया। सेक्टर पाई वन व पाई टू के निरीक्षण में भी पार्क व ग्रीन बेल्ट का रखरखाव संतोषजनक नहीं मिला, जिस पर देवा नर्सरी के भुगतान पर रोक लगा दी गई। 45 मीटर, 60 मीटर व 80 मीटर रोड पर हरियाली का रखरखाव ठीक से नहीं किया जा रहा था, जिसके चलते वंश एसोशिएट के महीने के कुल भुगतान में से 40 फीसदी की कटौती की गई है।

छह अन्य फर्मों को चेतावनी, एक सप्ताह में कार्य दुरुस्त न करने पर होगी कार्रवाई

नॉलेज पार्क दो व तीन में ग्रीनरी के रखरखाव में लापरवाही मिलने पर मैसर्स इंदर सिंह के कुल मासिक भुगतान में नौ फीसदी की कटौती की गई है। सेक्टर चाई थ्री व फोर में भी ग्रीनरी का रखरखाव ठीक न मिलने पर महीने के कुल मासिक भुगतान में से 13 फीसदी की कटौती की गई है। इसके अलावा वरिष्ठ प्रबंधक ने नॉलेज पार्क, ज्यू वन, टू व ओमीक्रॉन टू, म्यू वन व टू, सिग्मा थ्री, ईटा वन व टू, नॉलेज पार्क फोर आदि का दौरा किया। इन जगहों पर भी ग्रीनरी का रखरखाव ठीक न होने, पेड़-पौधों की सिंचाई में लापरवाही, कार्य स्थल पर मानक के अनुरूप श्रमिक काम करते न मिलने आदि खामियां मिलीं, जिसके चलते जय दुर्गा कंस्ट्रक्शन, मैसर्स अजयबीर सिंह, एचआर कंस्ट्रक्शन, मैसर्स सहदेव एंड संस, वंश एसोसिएट्स व शिव नर्सरी को चेतावनी नोटिस जारी की गई है। एक सप्ताह में उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों को दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। इस अवधि के बीतने के बाद भी कार्यों में खामी मिली तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...