नोएडा प्राधिकरण में भी कोरोना का कहर:50 से अधिक अधिकारी और कर्मचारी बीमार, 50% स्टाफ के साथ हो रहा काम

नोएडा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी-कर्मचारी कोरोना से संक्रमित होने शुरू हो गए हैं। डेढ़ दर्जन से अधिक अधिकारी और कर्मचारी पॉजिटिव होने के अलावा बीमार हैं। इनके अलावा काफी संख्या में कर्मचारियों की ड्यूटी चुनाव में लगनी शुरू हो गई है। इसकी वजह से प्राधिकरण का कामकाज प्रभावित हो रहा है।

50 से ज्यादा अधिकारी और कर्मचारी हैं बीमार

प्राधिकरण के पीजीएम, ओएसडी, तहसीलदार, प्रबंधक सहित डेढ़ दर्जन अधिकारी-कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं। इनके अलावा 40-50 अधिकारी-कर्मचारी बीमार हैं, जिन्होंने टेस्ट नहीं कराए। खास बात यह है कि इसी बीच जिले में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। प्राधिकरण के अधिकारी ने बताया कि कोविड गाइडलाइन के तहत कार्यालय में 50 प्रतिशत स्टाफ के काम करने की व्यवस्था समेत अन्य नियम लागू हैं। अधिकारी-कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन प्रयास है कि जल्द से जल्द समय में लोगों के प्राधिकरण संबंधी कामकाज किए जाएं।

7 दिन के काम को होने में लग रहे हैं 20 दिन

प्राधिकरण से संबंधित संपत्ति की रजिस्ट्री कराने, टीएम, म्यूटेशन, एक्सटेंशन, मार्गेज, नक्शा पास कराने सहित अन्य काम में 15-20 दिन से लेकर एक महीने तक का समय लग सकता है। जबकि संबंधित काम की समय-सीमा करीब एक सप्ताह है। नोएडा प्राधिकरण की सभी तरह की संपत्तियां (आवासीय भवन, औद्योगिक, संस्थागत, भूखंड, ग्रुप हाउसिंग) लीज पर आवंटित हैं।

इन सभी संपत्तियों में, जो भी प्रक्रिया होगी, उससे संबंधित कामकाज नोएडा प्राधिकरण में होता है। इसके अलावा किसी को मकान बनवाना है तो उसके नक्शा पास कराने के लिए भी नियोजन विभाग है। ऐसे में संबंधित कामकाज के लिए रोजाना 700-800 लोग सेक्टर-6 स्थित प्राधिकरण कार्यालय में आते हैं। इसके अलावा लोग ऑनलाइन आवेदन करते हैं। ऐसे में इन सभी का काम प्रभावित हो रहा है।

खबरें और भी हैं...