जेवर एयरपोर्ट स्थल पर दो वाटरप्रूफ पंडाल उखाड़े:लोग खुले आसमान में कुर्सियों पर बैठेंगे, सिर्फ मोदी-योगी के लिए रहेगा एक वाटरप्रूफ पंडाल

गाजियाबाद/जेवर18 दिन पहले
जेवर एयरपोर्ट शिलान्यास स्थल पर पब्लिक के लिए लगाए गए वाटरप्रूफ पंडाल से पर्दा हटाते मजदूर। दोनों टैंट शुक्रवार तक हट जाएंगे।

उप्र के जेवर में दुनिया के चौथे बड़े हवाई अड्डे की नींव रखने के लिए 25 नवंबर को आ रहे पीएम नरेंद्र मोदी के समारोह स्थल पर तैयारियों में बड़ा बदलाव हुआ है। पब्लिक के लिए लगाए गए 500 फीट लंबे और चौड़े दो वाटरप्रूफ पंडाल हटाए जा रहे हैं। पब्लिक अब कुर्सियों पर खुले आसमान के नीचे बैठेगी। समारोह स्थल पर सिर्फ एक वाटरप्रूफ पंडाल होगा, जिसके मंच पर मोदी-योगी समेत अन्य नेता मौजूद रहेंगे।

जेवर में पब्लिक के लिए दो विशाल वाटरप्रूफ पंडाल बनकर तैयार हो चुके थे। ऐन वक्त पर अधिकारियों के निर्देश के बाद इन्हें हटाया जा रहा है।
जेवर में पब्लिक के लिए दो विशाल वाटरप्रूफ पंडाल बनकर तैयार हो चुके थे। ऐन वक्त पर अधिकारियों के निर्देश के बाद इन्हें हटाया जा रहा है।

पहले बनाए जाने थे तीन पंडाल
शिलान्यास समारोह स्थल गौतमबुद्धनगर जिले में जेवर तहसील का रोही गांव है। यहां सड़क किनारे एक बड़े मैदान में तीन बड़े वाटरप्रूफ पंडाल लगाए जा रहे थे। इसमें दो पंडाल पब्लिक के लिए और एक पंडाल मंच वीवीआईपी के लिए था। पंडाल लगाने का जिम्मा तीन ठेकेदारों को दिया गया था। पिछले करीब एक हफ्ते से यह काम जारी था। पब्लिक के दो पंडाल तैयार हो चुके थे। सिर्फ वीवीआईपी के पंडाल का काम बाकी था। बुधवार देर शाम काम अचानक रोक दिया गया।
अहमदाबाद से सामान लेकर आए 13 ट्रक लौटाए
गुरुवार को पता चला कि पब्लिक के लिए लगाए जा चुके करीब 500 फीट लंबे-चौड़े वाटरप्रूफ पंडाल हटाए जाएंगे। दोपहर बाद दोनों पंडालों को उखाड़ने का काम शुरू कर दिया गया। यहां काम कर रहे मजदूरों ने बताया कि सिर्फ एक वाटरप्रूफ पंडाल मंच वीवीआईपी के लिए रहेगा। अहमदाबाद से पंडाल का सामान लेकर आ रहे 13 ट्रकों को भी अलीगढ़ जिले से लौटा दिया गया। कुल मिलाकर अब तीन में से दो ठेकेदारों से काम नहीं लिया जा रहा है।

जेवर में एयरपोर्ट के शिलान्यास समारोह स्थल पर इस स्थान पर पूजा कार्यक्रम होगा।
जेवर में एयरपोर्ट के शिलान्यास समारोह स्थल पर इस स्थान पर पूजा कार्यक्रम होगा।

मुख्य मंच के स्थान में फेरबदल
मंच स्थान में भी परिवर्तन किया गया है। पहले वीवीआईपी का मंच जेवर-बुलंदशहर रोड पर सड़क किनारे लगाया जा रहा था। अब इस जगह पर पब्लिक के बैठने की व्यवस्था होगी। सड़क से करीब 500 मीटर हटकर खेतों में चार हेलीपेड बनाए जा रहे हैं। इनके नजदीक ही मुख्य मंच बनेगा। पब्लिक सड़क की तरफ से आएगी और कार्यक्रम में आकर बैठ जाएगी। ये सब परिवर्तन क्यों किए गए, इस पर कोई अधिकारी खुलकर बोलने के लिए तैयार नहीं है।