नोएडा के रजिस्ट्री डिपार्टमेंट में लॉकडाउन:7 दिन में होगा 60 करोड़ का नुकसान, हजार रजिस्ट्री होंगी पेंडिंग

नोएडा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नोएडा के रजिस्ट्री डिपार्टमेंट में लॉकडाउन। - Dainik Bhaskar
नोएडा के रजिस्ट्री डिपार्टमेंट में लॉकडाउन।

नोएडा में रजिस्ट्री डिपार्टमेंट में लॉकडाउन बढ़ा तो एक सप्ताह में एक हजार से ज्यादा रजिस्ट्रियों का काम पेंडिंग होगा। इससे 60 करोड़ से ज्यादा का नुकसान होने का अनुमान है। नोएडा में 3 दिनों से डीड राइटर और वकील दोनों ही खादर क्षेत्र में रजिस्ट्री बंद करने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।

30 करोड़ का नुकसान, 500 से ज्यादा लौटे वापस

3 दिनों में विभाग को तकरीबन 30 करोड़ के राजस्व का नुकसान हो चुका है। वकील और डीड राइटर ऑफिस खोलने के पक्ष में नहीं हैं। नोएडा में प्रतिदिन सवा सौ से ज्यादा रजिस्ट्री होती है। महज 3 दिन में 500 से ज्यादा लोग बिना रजिस्ट्री कराए वापस जा चुके हैं।

5 करोड़ के स्टाम्प हो सकता है बेकार

खादर क्षेत्र में रजिस्ट्री खुलने के बाद वहां जमीन खरीदने वालों ने जल्दी रजिस्ट्री कराने के चक्कर में करीब 5 करोड़ के स्टाम्प खरीद लिए। वकीलों की मानें तो यदि स्टाम्प को जल्दी रजिस्टर्ड नहीं किया गया तो यह सब बेकार हो जाएंगे। इन सभी पर रजिस्ट्री से संबंधित जानकारी लिखी जा चुकी है। फिलहाल हड़ताल प्रदर्शन खत्म होने का रास्ता साफ होता नहीं दिख रहा है।

2 साल से रजिस्ट्री खोलने के लिए लगा रहे थे गुहार

हड़ताल जारी रही तो हजारों रजिस्ट्री पेंडिंग हो सकती हैं। बार एसोसिएशन के महासचिव एलसी शर्मा ने बताया कि विगत 2 सालों से खादर क्षेत्र में रजिस्ट्री को लेकर शासन से लगातार गुहार लगा रहे थे। प्रमुख सचिव के आदेश के बाद पिछले महीने यहां रजिस्ट्री खोली गई, लेकिन कुछ दिन बाद ही जिला प्रशासन ने रजिस्ट्री पर रोक लगा दी।

प्रदेश का 70 परसेंट राजस्व नोएडा से

वकीलों ने बताया कि प्रदेश को 70 प्रतिशत से ज्यादा राजस्व नोएडा देता है। ऐसे में नोएडा में खादर क्षेत्र की रजिस्ट्री पर रोक लगाना अधिकारियों की मनमानी है। वकीलों का कहना है इसे फौरन खोला जाए।

तत्कालीन डीएम ने लगाई थी रोक

खेती की जमीन को छोड़कर यहां बने निर्माण की रजिस्ट्री को लेकर तत्कालीन डीएम ने रोक लगा दी थी। जिसे खोला नहीं गया था। खादर क्षेत्र में हजारों की संख्या में मकान बन चुके हैं और निर्माणाधीन हैं। यहां की आबादी करीब 30 से 35 हजार के आसपास है।

खबरें और भी हैं...