ध्वस्तीकरण के दौरान बंद रहेंगे 8 रास्ते:9 सेकंड में ब्लास्ट हो जाएंगे ट्विन टावर्स, रूट डायवर्जन प्लान तैयार

नोएडा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुपरटेक के दोनों टावर ध्वस्त किए जाने के दौरान आठ स्थानों पर सड़क बंद की जाएगी। इसमें ध्वस्तीकरण साइट के आसपास के मुख्य सड़कों से लेकर अंदरुनी सड़क पर वाहनों के साथ पैदल लोगों की आवाजाही भी पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगी। सड़क बंद होने के कारण रूट डायवर्जन और यातायात की व्यवस्था को संभालने के लिए अतिरिक्त यातायात पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे।

नौ सेकंड में पूरी इमारत को ध्वस्त कर दिया जाएगा। इसके लिए 3700 किलो विस्फोटक दोनों टावरों में लगाया जा रहा है। जिसमें सियान में विस्फोटक लगाने का काम पूरा कर लिया गया है। 25 अगस्त तक एपेक्स में विस्फोटक लगाने का काम पूरा कर लिया जाएगा।

एमराल्ड कोर्ट के बाहर सड़क मार्ग को किया गया बंद।
एमराल्ड कोर्ट के बाहर सड़क मार्ग को किया गया बंद।

सुबह सात बजे से आवाजाही बंद
जिन आठ स्थानों पर सड़क बंद की जाएगी, उनमें से छह स्थानों पर सुबह सात बजे से आवाजाही बंद कर दी जाएगी, जबकि दो स्थान (नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे) पर विस्फोट होने के 15 मिनट पहले और करीब 20 मिनट बाद तक बेरीकेडिंग कर वाहनों को रोका जाएगा।

एक्सप्रेस की सर्विस लेन को लेकर बनाया घेरा
एडफिस कंपनी द्वारा बनाए गए प्लान के अनुसार ध्वस्तीकरण स्थल वाले क्षेत्र को सात हिस्सों में बांटा गया है। एमराल्ड कोर्ट और एटीएस ग्रींस विलेज दोनों टावरों के दाएं और बाईं ओर हैं। दोनों टावर के दाईं और बाईं तरफ 250 मीटर, टावर के आगे 450 मीटर और 270 मीटर पीछे एमराल्ड कोर्ट की ग्रीन बेल्ट तक कवर किया गया है। नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन तक इस घेरे को बनाया गया है।

इसी नक्शे के आधार पर सड़कों को किया गया बंद।
इसी नक्शे के आधार पर सड़कों को किया गया बंद।

ये आठ स्थान होंगे बेरीकेड लगाकर बंद

  • सिल्वर सिटी, एल्डिको और एटीएस विलेज तिराहा
  • पाश्र्वनाथ पैराडाइज के सामने नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन
  • पाश्र्वनाथ पैराडाइज के सामने नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे मुख्य मार्ग
  • एक्सप्रेस ट्रेड टावर के सामने नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन
  • सेक्टर-128 के पास ग्रेटर नोएडा से नोएडा की तरफ आने वाली एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन
  • सेक्टर-108 और 128 के बीच में नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे का मुख्य मार्ग
  • सेक्टर-108 के सामने नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन
  • सेक्टर-108 और सेक्टर-93 का तिराहा

500 से ज्यादा पुलिसकर्मी होंगे तैनात
28 अगस्त को दोनों टावर के ध्वस्तीकरण के दिन टावर के आसपास 500 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। इसके अलावा यातायात को लेकर 150 ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की मांग की है। ताकि सभी डायवर्ट किए गए और बाकी रूट पर कड़ी नजर रखी जा सके। विस्फोट वाले दिन नोएडा एक्सप्रेस-वे को 30 मिनट के लिए बंद किया जाएगा। वहीं मॉक ड्रिल के दौरान भी नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर भी यातायात को आधे घंटे के लिए रोका जाएगा।

ऐसे किया जाएगा रूट डायवर्जन

  • एनएसइजेड की ओर से एल्डिको चौक से सेक्टर-108 की ओर जाने वाले यातायात को एल्डिको चौक से पंचशील अंडरपास की ओर डायवर्ट किया जाएगा।
  • एनएसइजेड, सेक्टर-83 की ओर से आकर सेक्टर-92 चौक से श्रमिक कुंज की ओर जाने वाला यातायात एल्डिको चौक से पंचशील अंडरपास की ओर डायवर्ट होगा।
  • सेक्टर-93 स्थित श्रमिक कुंज चौक से सेक्टर-82 की ओर से जाने वाले यातायात को श्रमिक कुंज चौक से गेझा तिराहा की ओर या नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे की ओर डायवर्ट किया जाएगा।
  • सेक्टर-105 हाजीपुर, सेक्टर-108 से एल्डिको चौक होकर सेक्टर-83, फेज-2 एनएसइजेड की ओर जाने वाले यातायात को सेक्टर-105 व सेक्टर-108 चौक से गेझा तिराहा की ओर या नोएडा एक्सप्रेस-वे की ओर डायवर्ट किया जाएगा।
  • सेक्टर-82 श्रमिक कुंज से फरीदाबाद फ्लाईओवर का प्रयोग कर सेक्टर-132 की ओर जाने वाले वाहन श्रमिक कुंज चौक से सेक्टर-108 की ओर डायवर्ट होंगे।
  • सेक्टर-132 की ओर से आकर फरीदाबाद फ्लाईओवर का प्रयोग कर सेक्टर-82 की ओर जाने वाले वाहनों को फ्लाईओवर से पूर्व सेक्टर-128 की ओर डायवर्ट किया जाएगा।
खबरें और भी हैं...