प्ले स्टोर पर चुनावी एप की भरमार:डाउनलोड करो, फोटो डालो और कर दो वोटरों में वायरल

गौतमबुद्धनगर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ऐप पर इस तरह के पोस्टर मौजूद हैं। - Dainik Bhaskar
ऐप पर इस तरह के पोस्टर मौजूद हैं।

चुनावी वर्क फॉर होम में राजनीतिक दल डिजिटल तरीके से मतदाताओं तक पहुंच रहे हैं। इसका असर गूगल प्ले स्टोर पर भी देखने मिल रहा है। प्ले स्टोर पर ऐसे तमाम एप्लिकेशन की बाढ़ आ गई है, जहां पर प्रत्याशी अपने आप अपने पोस्टर, विडियो कंटेंट और बड़े नेताओं के साथ फोटो फ्रेम कर अपनी बात मतदाताओं तक पहुंचा सकते हैं। इसे करने में प्रत्याशी को एक मिनट से भी कम समय लग रहा है। ये ऐप चुनावी अखाड़े में जबरदस्त लोकप्रिय हो रहे हैं।

ऐप में स्लोगन और फिल्मी डायलॉग भी शामिल

चुनाव प्रचार में फिल्मी डायलॉग काफी अहम माने जाते हैं। प्ले स्टोर में डाले गए ऐप्स में इनका खास ध्यान दिया गया है। सभी पार्टियों के फोटो फ्रेम में खास फिल्मी डायलॉग और स्लोगन का प्रयोग किया गया है। इन ऐप में फ्री में वीडियो कंटेंट को भी अपलोड किया जा सकता है। वहीं स्थानीय मुद्दों को टेक्स्ट के जरिए लिखा जा सकता है।

प्ले स्टोर पर मौजूद हैं 50 से ज्यादा ऐप

प्ले स्टोर पर 50 से ज्यादा ऐप मौजूद हैं, जिनको प्रचार के लिए डाउनलोड किया जा रहा है। इसमें राजनीतिक दल बीजेपी के 12 से ज्यादा ऐप हैं। इन ऐप से बनाए गए फोटो फ्रेम में योगी की जगह मोदी को ज्यादा तवज्जो दी गई है। चुनावी मैदान में समाजवादी पार्टी भी पीछे नहीं है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और डिंपल यादव के अलावा मुलायम सिंह के भी फोटो फ्रेम हैं। इसके अलावा कांग्रेस बसपा और अन्य पार्टियों के भी ऐप प्ले स्टोर पर मौजूद हैं।

सोशल मीडिया पर किया जा सकता है वायरल

जिस भी प्रत्याशी को अपना पोस्टर बनाना है, प्ले स्टोर पर जाकर अपनी पार्टी के ऐप को डाउनलोड कर सकता है। ऐप डाउनलोड होने के बाद यहां दिखाए जा रहे विकल्पों जिसमें फोटो, टेक्स्ट, वॉइस, वीडियो आदि को फ्रेम के साथ लगा कर सेव करना होगा। ऐप में दिए गए विकल्प से वह फेसबुक, वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम या किसी अन्य सोशल मीडिया साइट पर अपना पोस्टर भेज सकता है।

प्रचार के लिए नोएडा में बनाए गए 2000 से ज्यादा वॉट्सऐप ग्रुप

नोएडा में सात लाख मतदाता हैं, जिनमें 95 प्रतिशत से ज्यादा स्मार्टफोन यूजर्स हैं। बीजेपी ने इनको कवर करने के लिए 690 से ज्यादा ग्रुप्स बनाए हैं। कांग्रेस ने 500 से ज्यादा वॉट्सऐप ग्रुप बनाए हैं। इसी तरह सपा ने और बसपा ने भी अपनी तैयारी की हुई है। आईटी विश्लेषकों ने बताया कि नोएडा में चुनावी प्रचार के लिए 2000 से ज्यादा ग्रुप बनाए गए हैं।

खबरें और भी हैं...