नोएडा को मिलेगी स्मॉग से राहत:UP सरकार नोएडा में लगा रही पहला एंटी स्मॉग टावर, 14 सेक्टरों को करेगा प्रदूषण मुक्त; दीपावली से होगा शुरू

नोएडा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्राधिकरण ने बताया कि डीएनडी के पास सेक्टर-16 ए में ग्रीन बेल्ट पर करीब 400 वर्ग मीटर की जमीन पर यह टॉवर लगाया जा रहा है। - Dainik Bhaskar
प्राधिकरण ने बताया कि डीएनडी के पास सेक्टर-16 ए में ग्रीन बेल्ट पर करीब 400 वर्ग मीटर की जमीन पर यह टॉवर लगाया जा रहा है।

अक्टूबर के बाद से ही दिल्ली एनसीआर में धुंध छा जाती है। लोगों का सांस लेना मुश्किल हो जाता है। प्रदूषण अपने चरम पर होता है। ऐसे में दिल्ली के बाद प्रदेश में पहला एंटी स्मॉग टावर के बनने का काम नोएडा में शुरू हो गया है। यह टावर फिल्म सिटी सेक्टर-16 ए के करीब डीएनडी एक्सप्रेसवे पर बनाया जा रहा है। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में प्राधिकरण और भेल (BHEL) एयर पॉल्यूशन कंट्रोल टावर स्थापित कर रहे हैं। इस प्रोजेक्ट के शुरू होने के बाद शहर के 14 सेक्टरों में लोगों को शुद्ध हवा मिलेगी।

यह एंटी स्मॉग टावर यूपी का पहला प्रोजेक्ट है। नोएडा प्राधिकरण को हर साल इसे चलाने में जो खर्च आएगा, उसकी आधी धनराशि देनी होगी। दरअसल प्राधिकरण शहर के लोगों को गुणवत्तापूर्ण वायु देने के लिए लगातार प्रयासरत है। हालांकि करीब 6 महीने तक शहर और जिले में एक्यूआई अच्छा नहीं रहता है। इस एंटी स्मॉग टावर के शुरू होने के बाद अन्य शहरों में भी इस सुविधा को शुरू करने पर विचार किया जाएगा।

दीपावली से पहले किया जाएगा शुरू

नोएडा प्राधिकरण के वरिष्ठ परियोजना अभियंता जन स्वास्थ्य एससी मिश्रा ने बताया दीपावली से पहले स्मॉग टावर को शुरू कर दिया जाएगा। प्राधिकरण इस पर 18।50 लाख रुपए प्रतिवर्ष खर्च देगा। यह टावर पीएम 2।5 और वातावरण में जमे स्मॉग को दूर करेगा। कुछ दिनों पहले ऐसा ही एक एंटी स्मॉग टावर दिल्ली में भी लगाया गया है। सेक्टर-16 ए कॉमर्शियल और सेक्टर-17 में टाउनशिप है। यहां हजारों लोग काम करते हैं और रहते हैं। इसीलिए इस इलाके की हवा को सुधारने के लिए पहल की गई है।

14 सेक्टरों को मिलेगा लाभ

प्राधिकरण ने बताया कि डीएनडी के पास सेक्टर-16 ए में ग्रीन बेल्ट पर करीब 400 वर्ग मीटर की जमीन पर यह टॉवर लगाया जा रहा है। इस एंटी स्मॉग टावर के लगने से आसपास के 1 वर्ग किलोमीटर में आने वाले सेक्टर 16, 16ए, 16 बी, 17,17ए, 18, नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे, डीएनडी एक्सप्रेसवे समेत 14 सेक्टरों में वायु प्रदूषण कम होगा। लोगों को ज्यादा स्वच्छ हवा मिलेगी। जिससे लाखों लोग स्वच्छ हवा में सांस ले सकेंगे।

खबरें और भी हैं...