सपा-रालोद की पहली लिस्ट में 5 दागदार प्रत्याशी:हाजी यूनुस पर 23 मुकदमे, BJP नेता की हत्या में जेल गए थे अमरपाल शर्मा

गाजियाबाद4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
23 मुकदमों की यह लिस्ट हाजी यूनुस की है, जिसे सपा-रालोद ने बुलंदशहर सदर सीट से प्रत्याशी घोषित किया है। - Dainik Bhaskar
23 मुकदमों की यह लिस्ट हाजी यूनुस की है, जिसे सपा-रालोद ने बुलंदशहर सदर सीट से प्रत्याशी घोषित किया है।

समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल ने 13 जनवरी को 29 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी कर दी। इसमें 19 प्रत्याशी रालोद और 10 प्रत्याशी सपा के सिंबल पर चुनाव लड़ेंगे। इस पहली लिस्ट में कई प्रत्याशी दागदार हैं। उन पर लूट, हत्या, हमले जैसे संगीन मुकदमे दर्ज हैं। कई प्रत्याशी गैंगस्टर तक हैं।

हाजी यूनुस, बुलंदशहर

बुलंदशहर सदर सीट से बसपा के टिकट पर विधायक बनते रहे हाजी अलीम की मृत्यु के बाद सपा-रालोद ने उनके छोटे भाई हाजी यूनुस को टिकट दिया है। यूनुस पर बुलंदशहर की कोतवाली नगर में ही 23 मुकदमे दर्ज हैं। प्रभारी निरीक्षक द्वारा एसएसपी को भेजी गई रिपोर्ट में हत्या, हमला, लूट, गुंडा एक्ट, गैंगस्टर एक्ट जैसे 23 मुकदमों का जिक्र किया गया है।

मदन भैया, लोनी

गाजियाबाद में ग्राम जावली निवासी मदन कसाना उर्फ मदन भैया बागपत जिले की खेकड़ा सीट से चार बार विधायक रहे। 2012 में नए परिसीमन के बाद विधानसभा सीट लोनी बन गई। यहां से उन्हें सपा-रालोद गठबंधन ने टिकट दिया है। मदन पर लोनी से गैंगस्टर, बागपत से जानलेवा हमले जैसे 10 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। इसमें करीब चार मामले कोर्ट में ट्रायल पर हैं।

नाहिद हसन, कैराना

कैराना सीट से सपा-रालोद गठबंधन प्रत्याशी नाहिद हसन गैंगस्टर में भी निरुद्ध हैं। साल-2018 में उन पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हुआ। इसमें वह जेल गए। फिलहाल हाईकोर्ट से सशर्त जमानत पर बाहर हैं। इसके अलावा उन पर 2019 में एसडीओ पर जानलेवा हमले का मुकदमा, 2019 में ही एसडीएम से नोकझोंक करके सरकारी कार्य में बाधा डालना, विवादित बयान देना, पुलिस पर फायरिंग करने के भी मुकदमे दर्ज हैं। पिछले साल कैराना पुलिस ने नाहिद व उनकी मां पर गैंगस्टर की कार्रवाई की थी।

अमरपाल शर्मा, साहिबाबाद​​​​​​​

गाजियाबाद के खोड़ा में भाजपा नेता गजेंद्र भाटी उर्फ गज्जी की दो सितंबर 2017 को हत्या हुई। शूटरों ने खुलासा किया कि अमरपाल शर्मा ने उन्हें सुपारी दी थी। प्रशासन ने इस मामले में अमरपाल पर रासुका भी लगाई थी। अमरपाल पर साल-2018 में 10 लाख की रंगदारी मांगने का केस दर्ज हुआ। कभी बसपा और कांग्रेस के साथी रहे अमरपाल शर्मा आज सपा-रालोद गठबंधन से साहिबाबाद सीट से प्रत्याशी हैं।

असलम चौधरी, धौलाना

हापुड़ जिले की धौलाना विधानसभा सीट से सपा विधायक एवं मौजूदा प्रत्याशी असलम चौधरी विवादित बयान के लिए अक्सर चर्चाओं में रहते हैं। इसके चलते पिछले पांच साल में उन पर तकरीबन छह से ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए। 2019 में उन पर बलवा-मारपीट और इससे पहले फ्रॉड का केस दर्ज हुआ था।