इलेक्ट्रिक बसों के 6 रूट फाइनल:गाजियाबाद में 3 महीने में दौड़ेंगी 50 इलेक्ट्रिक बसें, NCR का प्रदूषण होगा कम; बस में होगी ये खासियत

गाजियाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इलेक्ट्रिक बस की प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
इलेक्ट्रिक बस की प्रतीकात्मक फोटो।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के लोगों के लिए खुशखबरी है। शहर की सड़कों पर तीन माह के अंदर इलेक्ट्रिक बसें दौड़ती दिखाई देंगी। रिवहन निगम ने 6 रूट फाइनल कर दिए हैं। वर्कशॉप तैयार हो चुकी है। बस अब किराया तय करना बाकी है। माना जा रहा है कि NCR में बढ़ते प्रदूषण को कम करने में मददगार होगा।

गाजियाबाद परिवहन डिपो के रीजनल मैनेजर एके सिंह ने बताया कि 14 करोड़ रुपए से विजयनगर क्षेत्र के अकबरपुर-बहरामपुर में इलेक्ट्रिक बसों की वर्कशॉप बनाए जाने का कार्य लगभग पूरा हो चुका है।

निर्माणदायी संस्था कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन सर्विसेज (C&DS) महानगर में 25 चार्जिंग स्टेशन बनाने का काम तेजी से निपटा रही है। नगर आयुक्त की अध्यक्षता वाली कमेटी ने फिलहाल 6 रूट तय किए हैं। गाजियाबाद में कुल 100 इलेक्ट्रिक बसें चलाना प्रस्तावित हैं, मगर पहले चरण में 50 बसें अगले 3 माह के भीतर चला दी जाएगी।

ईको फ्रेंडली हैं ये बस

  • दावा है कि इलेक्ट्रिक बसें ईको फ्रेंडली हैं। यह ध्वनि और वायु प्रदूषण नहीं करती। इन बसों में मोटर इलेक्ट्रिक ऊर्जा को मैकेनिकल ऊर्जा में बदलती है।

फिलहाल यह रूट हुए फाइनल

  • आनंद विहार से मुरादनगर
  • आनंद विहार से ALT सेंटर गाजियाबाद
  • दिलशाद गार्डन से गोविंदपुरम
  • दिलशाद गार्डन से लालकुआं
  • गोविंदपुरम पुलिस लाइन से नोएडा सिटी सेंटर
  • लोनी टीला मोड़ भोपुरा से नया अड्डा गाजियाबाद

इलेक्ट्रिक बसों की खासियत

  • लो फ्लोर इलेक्ट्रिक बस में 25 सीट
  • एक सीट ड्राइवर व दिव्यांग यात्रियों के लिए
  • व्हीलचेयर भी उपलब्ध होगी
  • दिव्यांग यात्रियों के लिए हाईड्रोलिक रैंप
  • बस में फ्रंट-रियर एयर सस्पेंशन सुविधा
  • एयर कंडीशन, GPS, CCTV से लैस
  • एक बार चार्जिंग में 180 km का सफर
  • इमरजेंसी बटन, फायर सिस्टम, ट्यूब लेस टायर
खबरें और भी हैं...