सूटकेस में प्रेमी की लाश ले जा रही प्रेमिका गिरफ्तार:4 साल से लिव-इन में रह रहे थे, शादी से इनकार पर उस्तरे से गला काटा

गाजियाबाद2 महीने पहले

गाजियाबाद में प्रेमिका ने शनिवार को प्रेमी की हत्या कर दी, लेकिन लाश को ठिकाने लगाने से पहले ही पकड़ी गई। प्रेमिका ने पुलिस के सामने हत्या की बात भी कबूल ली। उसने बताया कि प्रेमी ने शादी करने से इनकार कर दिया था, इस कारण यह फैसला लेना पड़ा।

जानकारी के अनुसार, प्रीति और फिरोज पिछले चार साल से लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे थे। दोनों के बीच हमेशा शादी की बात को लेकर झगड़ा होता था। शनिवार दोपहर भी दोनों के बीच झगड़ा हुआ। इसके बाद प्रीति ने फिरोज की गर्दन उस्तरे से काट दी। हत्या के बाद लाश को 24 घंटे तक फ्लैट में ही छिपाकर रखा। फिर शव को ठिकाने लगाने के लिए उसे सूटकेस में रख दिया और गाजियाबाद रेलवे स्टेशन की तरफ जाने की तैयारी में थी।

पुलिस की पूछताछ से घबराई प्रेमिका
प्रीति रविवार रात करीब 3.30 बजे अपने फ्लैट के नीचे ऑटो का इंतजार कर रही थी। तभी अचानक पुलिस पहुंच गई। इस पर प्रीति घबरा गई। पुलिस को संदेह हुआ तो पूछताछ की। इस तरह से पूरा मामले का खुलासा हुआ। प्रेमी हेयर ड्रेसर था। वह घर पर हेयर कटिंग के सामान भी रखता था।

पुलिस कस्टडी में प्रीति ने खुद ही पूरी कहानी बताई कि कैसे मर्डर करने के बाद वो लाश को घर में ही रखे रही। फिर लाश को ठिकाने लगाने की प्लानिंग बनाई।
पुलिस कस्टडी में प्रीति ने खुद ही पूरी कहानी बताई कि कैसे मर्डर करने के बाद वो लाश को घर में ही रखे रही। फिर लाश को ठिकाने लगाने की प्लानिंग बनाई।

प्रीति शादीशुदा है, पति को छोड़कर फिरोज के साथ रह रही थी
पुलिस के अनुसार, प्रीति की शादी दीपक यादव से हुई थी। मगर विवाद के बाद प्रीति ने अपने पति को छोड़ दिया। करीब 4 साल से प्रीति फिरोज के साथ लिव-इन में रह रही थी। फिरोज संभल का रहने वाला है। दोनों गाजियाबाद में टीला मोड़ इलाके के तुलसी निकेतन में फ्लैट में रहते थे। हत्या की प्लानिंग प्रीति ने की। इसके बाद शनिवार यानी 6 अगस्त की देर रात फिरोज को मार दिया।

ट्रेन में सूटकेस रखने की प्लानिंग थी
रविवार दोपहर वो गाजियाबाद के सीलमपुर इलाके के मार्केट में गई। यहां एक बड़े साइज का सूटकेस खरीदा। वापस घर आने के बाद उसने लाश को सूटकेस में शिफ्ट किया, ताकि उसको डंप कर सके। फिर रात होने का इंतजार किया। प्रीति चाहती थी कि रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर किसी ट्रेन में ये सूटकेस रख दे।

वो रविवार रात करीब 3.30 बजे ट्राली सूटकेस को खींचती हुई अपने फ्लैट से नीचे आई और ऑटो का इंतजार करने लगी इसी दरम्यान चेकिंग पर निकली पुलिस वहां पहुंच गई। अचानक पुलिस को देखकर प्रीति चौंक गई। सूटकेस हाथ से छूट गया। उसकी हड़बड़ाई देखकर पुलिस को शक हुआ। पुलिस ने सूटकेस खुलवाया तो अंदर लाश मिली।

'तू पति की नहीं हुई, मेरी क्या होगी', ये सुनते ही फिरोज पर हमला कर दिया
प्रीति ने पुलिस को बताया, 'मैं ज्यादा दिन तक लिव-इन में नहीं रहना चाहती थी। फिरोज से बार-बार शादी करने के लिए कह रही थी। शनिवार रात भी इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। फिरोज ने मुझसे कहा कि तू चालू औरत है। तू अपने पति की नहीं हुई तो मेरी क्या होगी। इसी बात पर मुझे गुस्सा आ गया। फिरोज का गला काट दिया।'

खबरें और भी हैं...