ट्रायल रन के लिए टेस्टिंग यार्ड में पहुंची रैपिड रेल:ट्रेन चालू करने को गुजरात से गाजियाबाद आए इंजीनियर, अगस्त में भरेगी फर्राटा

गाजियाबाद3 महीने पहले

देश की पहली रीजनल रैपिड रेल अब ट्रायल रन के लिए तैयार हो रही है। गाजियाबाद के दुहाई डिपो में पहुंची इस रेल को अब टेस्टिंग यार्ड में लाकर खड़ा कर दिया गया है। ट्रेन को यार्ड तक लाने के लिए क्रेन की मदद लेनी पड़ी, जिससे खींचकर उसको यार्ड तक पहुंचाया गया। रैपिड रेल का निर्माण करने वाली एलस्टॉम कंपनी के प्लांट गुजरात से इंजीनियरों की टीम दुहाई डिपो में पहुंच गई है। ट्रेन को स्टार्ट करने काम गुजरात के इंजिनीर्स करेंगे।

नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट सिस्टम (NCRTC) का टारगेट है कि इस रैपिड रेल का ट्रायल रन हर हाल में अगस्त-2022 तक कर लिया जाए। ट्रायल रन फर्स्ट फेज में गाजियाबाद में साहिबाबाद से दुहाई डिपो के बीच होगा, जिसकी दूरी 17 किलोमीटर की है। इस बीच रेल पटरियां बिछ चुकी हैं। तीन दिन पहले सिग्नल लगाने समेत अन्य तकनीकी काम शुरू हो चुका है। NCRTC अफसरों का कहना है कि फर्स्ट फेज में हम रैपिड रेल का संचालन साल-2023 से शुरू कर देंगे। इसके लिए तैयारियां जोरों पर हैं।

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर पर रैपिड रेल ट्रैक का काम जारी है।
दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर पर रैपिड रेल ट्रैक का काम जारी है।

फेज वाइज शुरू होगा संचालन
रैपिड रेल का पहला स्टेशन दिल्ली के सराय काले खां और आखिरी स्टेशन मेरठ के मोदीपुरम में है। इन दोनों स्टेशनों की दूरी 82 किलोमीटर है। फर्स्ट फेज में साल-2023 में साहिबाबाद से दुहाई, दूसरे फेज में साल-2024 में दुहाई से मेरठ के शताब्दीनगर और 2025 में इस पूरे कॉरिडोर पर रैपिड रेल चलाने का टारगेट है। इस पूरे कॉरिडोर पर दो डिपो बनाए गए हैं। पहला दुहाई और दूसरा मोदीपुरम में है।

गुजरात के सांवली स्थित एलस्टॉम कंपनी के प्लांट में रैपिड रेल के कोच लगातार तैयार किए जा रहे हैं।
गुजरात के सांवली स्थित एलस्टॉम कंपनी के प्लांट में रैपिड रेल के कोच लगातार तैयार किए जा रहे हैं।

सांवली प्लांट से जल्द आएंगे और ट्रेन सेट
रैपिड रेल का निर्माण गुजरात के सांवली स्थित एलस्टॉम कंपनी के प्लांट में हुआ है। दिल्ली-गाजियाबाद-रैपिड कॉरिडोर पर कुल 30 ट्रेन सेट चलाए जाएंगे। जबकि 10 मेट्रो ट्रेन सिर्फ मेरठ के लिए दी जाएंगी। अभी सिर्फ एक ट्रेन सेट दुहाई डिपो में 12 जून को आया है। ऐसे 39 ट्रेन सेट और आने हैं। NCRTC प्रवक्ता पुनीत वत्स ने बताया, जल्द ही और ट्रेन सेट की डिलीवरी शुरू होगी।