खाली हो रहा है गाजीपुर बॉर्डर, मेले जैसा माहौल:किसानों के आखिरी जत्थे के साथ फतेह मार्च शुरु, रवाना होते वक्त राकेश टिकैत हुए भावुक

गाजियाबादएक महीने पहले

गाजीपुर बॉर्डर से आज 383 दिन बाद किसानों की विदाई हो रही है। राकेश टिकैत की अगुआई में हजारों किसान फतेह मार्च के रूप में अपने घरों के लिए प्रस्थान कर रहे हैं। गाजीपुर बॉर्डर पर इस वक्त मेले जैसा माहौल है। किसान बेहद भावुक हैं। उन पर फूल बरसाए जा रहे हैं। एक दूसरे के साथ फोटो लेकर इन यादों को किसी भी तरह से संजोना चाह रहे हैं।

बॉर्डर पर अधिकांश टेंट और तंबू उखड़ गए हैं। फतेह मार्च के स्वागत के लिए पूरे रास्ते में जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। लंगर और भंडारे भी लगाए गए हैं। 125 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए यह फतेह मार्च मुजफ्फरनगर जिले के गांव सिसौली में पहुंचकर संपन्न होगा।

आज पूरी तरह से खाली होगा गाजीपुर बॉर्डर

गाजीपुर बॉर्डर से वापस लौटते हुए राकेश टिकैत
गाजीपुर बॉर्डर से वापस लौटते हुए राकेश टिकैत

9 दिसंबर को केंद्र सरकार की ओर से किसानों की सारी मांगें मान ली गई थी। इसके बाद किसान मोर्चा ने किसान आंदोलन वापसी का ऐलान किया था। दिल्ली के सिंघु, टीकरी और शाहजहांपुर बॉर्डर पहले ही खाली हो चुके हैं। यूपी-दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर से भी 90 फीसदी किसान निकल चुके हैं।

यूपी-दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर फूलों से सजी हुई कार
यूपी-दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर फूलों से सजी हुई कार

राकेश टिकैत ने पहले ही कहा था कि वह सभी किसानों की वापसी के बाद अपने घर जाएंगे। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, राकेश टिकैत के नेतृत्व में बचे हुए किसानों का आखिरी जत्था फतेह मार्च के रूप में बुधवार सुबह 9 बजे गाजीपुर बॉर्डर से निकलेगा।

घर लौटने की खुशी में फूलों से गाड़ी को सजाया गया
घर लौटने की खुशी में फूलों से गाड़ी को सजाया गया

हवन और यज्ञ के बाद होगी रवानगी
गाजीपुर बॉर्डर पर सुबह हवन यज्ञ हुआ। राकेश टिकैत व अन्य किसानों ने आहुति दी, फिर अपने-अपने घरों के लिए रवाना हो जाएंगे। हालांकि, यहां मौजूद किसान पहले राकेश टिकैत के साथ गांव सिसौली (मुजफ्फरनगर) जाएंगे, जहां भाकियू का मुख्यालय है। यह रूट गाजीपुर बॉर्डर से शुरू होकर मुरादनगर, मोदीनगर, मेरठ, खतौली, मंसूरपुर होते हुए जा रहे हैं।

भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत का जन्मदिन भी है। ऐसे में घर वापसी और जन्मदिन समारोह एक साथ होगा।
भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत का जन्मदिन भी है। ऐसे में घर वापसी और जन्मदिन समारोह एक साथ होगा।

नरेश टिकैत का जन्मदिन और घर वापसी का जश्न एक साथ
भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि 383 दिन बाद राकेश टिकैत घर वापसी कर रहे हैं। इस उपलक्ष्य में लड्डू तैयार किए जा रहे हैं। सिसौली में किसान भवन को रंग-बिरंगी लाइटों से सजाया गया है। उधर, सर्वखाप मुख्यालय सोरम में बड़े पैमाने पर भंडारे की तैयारी की गई है। बुधवार को ही भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत का जन्मदिन भी है। ऐसे में घर वापसी और जन्मदिन समारोह एक साथ होगा।

खबरें और भी हैं...