गृह मंत्रालय का अफसर बनकर धमकाने वाला गिरफ्तार:गाजियाबाद में घर में एंट्री पाने के लिए बन गया फर्जी अधिकारी, फ्रॉड पुलिस ने बरामद की लाइसेंसी रिवॉल्वर

गाजियाबादएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गाजियाबाद की मसूरी थाना पुलिस ने गृह मंत्रालय का फर्जी अधिकारी बनने वाले हरदीप को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
गाजियाबाद की मसूरी थाना पुलिस ने गृह मंत्रालय का फर्जी अधिकारी बनने वाले हरदीप को गिरफ्तार किया है।

गाजियाबाद में गृह मंत्रालय का अधिकारी बताकर जांच के बहाने घर में घुसने, जबरन परिजनों को मैसेज भेजने के मामले में पुलिस ने एक फ्रॉड को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से एक लाइसेंसी रिवॉल्वर और मोबाइल बरामद किया है।

मसूरी थाने के सब इंस्पेक्टर अनुराग सिंह ने बताया कि पकड़ा गया आरोपी हरदीप है। वह यूपी में जनपद फर्रुखाबाद के ग्राम भोलेपुर का रहने वाला है। वर्तमान में गाजियाबाद के इंदिरापुरम थाना क्षेत्र स्थित वैशाली में रह रहा था। पुलिस के अनुसार, हरदीप यादव का एक व्यक्ति के घर पर आना-जाना था। उस व्यक्ति ने घर पर आने से मना किया। आरोप है कि एक दिन हरदीप अपने चार-पांच साथियों संग आया। खुद को गृह मंत्रालय से बताते हुए जांच के नाम पर मकान-गाड़ी के कागजात मांगे। इस पर मोहल्ले के लोग इकट्ठा हो गए। उन्होंने हरदीप से आईडी प्रूफ मांगा तो वह वहां से निकल गया। इसके बाद हरदीप ने पीड़ित व उसके परिजनों को मैसेज भेजने शुरू कर दिए। पुलिस ने बताया कि हरदीप ने अपनी गाड़ी पर जो नंबर डाल रखा है, उस नंबर की असली गाड़ी कोई और है। पुलिस ने धमकी और फर्जीवाड़े का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की और आरोपी हरदीप को मंगलवार को धर दबोचा।

लाइसेंस निरस्त की भेजी जाएगी रिपोर्ट

पूछताछ में आरोपी हरदीप ने बताया कि वह गृह मंत्रालय में नहीं है। उसने ऐसा इसलिए किया, ताकि उसे कोई घर जाने से नहीं रोके। पुलिस ने बताया कि आरोपी से जो रिवॉल्वर बरामद हुई है, वह किशनपाल निवासी हरदोई के नाम पर है। इस प्रकार दूसरे का असलहा अपने पास रखना भी अपराध है। शस्त्र लाइसेंस निलंबित करने के लिए जिला प्रशासन को रिपोर्ट भेजी जाएगी।