रिक्शा चालक की हत्या में महिला समेत 4 अरेस्ट:मकान का किराया देने के लिए पहले ई-रिक्शा लूटा, फिर कर दी हत्या

गाजियाबाद7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गाजियाबाद की लोनी थाना पुलिस ने ई-रिक्शा चालक की हत्या में तीन पुरुष और एक महिला को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
गाजियाबाद की लोनी थाना पुलिस ने ई-रिक्शा चालक की हत्या में तीन पुरुष और एक महिला को गिरफ्तार किया है।

गाजियाबाद में मकान का किराया चुकाने के लिए एक परिवार ने मिलकर ई-रिक्शा चालक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। मकसद था कि ई-रिक्शा लूटकर बेच देंगे और उससे किराया दे देंगे। पुलिस ने एक महिला समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

ई-रिक्शा चालक सुभाष चंद्र लोनी क्षेत्र में 14 सितंबर को लापता हुए थे। 16 सितंबर की रात उनकी लाश एक बोरी में मिली।
ई-रिक्शा चालक सुभाष चंद्र लोनी क्षेत्र में 14 सितंबर को लापता हुए थे। 16 सितंबर की रात उनकी लाश एक बोरी में मिली।

14 को लापता, 15 को FIR, 16 सितंबर को शव मिला
गाजियाबाद में कस्बा लोनी के अंसार विहार निवासी सुभाष चंद्र ई-रिक्शा चलाते थे। पुत्र सौरभ के अनुसार, पिता सुभाष चंद्र 14 सितंबर को अपना ई-रिक्शा लेकर घर से निकले थे और वापस नहीं आए। 15 सितंबर की सुबह खोजबीन के दौरान परिजनों को जानकारी हुई कि मोहल्ला सबलू गढ़ी में उनके पिता की हत्या कर दी गई। शव को अज्ञात स्थान पर फेंक दिया गया। सौरभ ने इस मामले में 15 सितंबर को थाना लोनी में गोपाल, उसके बेटे रमेश और बिजेंद्र के खिलाफ हत्या की FIR दर्ज कराई।

महिला समेत चार आरोपी गिरफ्तार
पुलिस ने 16 सितंबर की रात सबसे पहले गोपाल को पकड़ा। कड़ाई से पूछताछ में उसने जुर्म कुबूल कर लिया। गोपाल की निशानदेही पर पुलिस ने बोरी सहित शव को ट्रोनिका सिटी थाना क्षेत्र स्थित अशोकनगर से बरामद कर लिया। जबकि ई-रिक्शा दूसरे स्थान पर खड़ी मिल गई। 17 सितंबर को पुलिस ने इस मामले में गोपाल के दोनों बेटों रमेश, बिजेंद्र और एक अन्य महिला रिंकी को गिरफ्तार कर लिया।

CCTV फुटेज में दिख रहा है कि बैटरी निकालने के बाद आरोपी ई-रिक्शे को धक्का मारकर ले जा रहे हैं।
CCTV फुटेज में दिख रहा है कि बैटरी निकालने के बाद आरोपी ई-रिक्शे को धक्का मारकर ले जा रहे हैं।

रिक्शा बुक किया, घर के सामने लूटा
इंस्पेक्टर अजय चौधरी ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे कस्बा लोनी के सबलू गढ़ी में किराए के मकान में रहते हैं। उन पर कई महीने का मकान किराया बाकी था और उसे चुकाने के लिए रुपए नहीं थे। इस पर उन्होंने प्लानिंग बनाई कि ई-रिक्शा लूटकर बेच देंगे और उससे किराया चुका देंगे। प्लानिंग के तहत आरोपी ईरिक्शा बुक करके अपने घर तक लाए और वहां रिक्शा छीनने लगे। सुभाष ने जब विरोध किया तो आरोपी उसको पकड़कर घर के अंदर ले गए और चाकू मारकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को दूर फेंक आए।