पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गाजीपुर बॉर्डर किसान आंदोलन में पहुंचे हरियाणा के पूर्व CM:ओमप्रकाश चौटाला बोले- किसान अधिकार के लिए सबकुछ कुर्बान, गोलियां खाने को भी हैं तैयार

गाजियाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरियाणा के पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला किसान आंदोलन में समर्थन देने पहुंचे। - Dainik Bhaskar
हरियाणा के पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला किसान आंदोलन में समर्थन देने पहुंचे।

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला मंगलवार को गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे। उन्होंने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत से कुछ देर बातचीत की। करीब पौने 8 महीने से चल रहे किसान आंदोलन को समर्थन दिया।

इस दौरान चौटाला ने कहा कि हम किसानों के अधिकार के लिए अपना सबकुछ कुर्बान कर देंगे। यदि गोलियां खानी पड़ी तो उसके लिए भी तैयार हैं। इससे पहले चौटाला ने पलवल बॉर्डर पर पहुंचकर भी किसानों से बातचीत की। जेल से रिहाई के बाद उनका किसानों के बीच यह पहला दौरा है।

'देश का पैसा अंबानी-अडानी के पास जा रहा'
मीडिया से बातचीत में इनोलो नेता ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि यह आंदोलन सिर्फ किसानों का नहीं है। इसमें किसान, मजदूर, कर्मचारी, दुकानदार, प्रेस, पुलिस, नेता सबलोग शामिल हैं। कुल 36 जातियां इस आंदोलन में हैं। देश में जात-पात का जहर बोने वालों के मुंह पर यह आंदोलन करारा तमाचा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा शासन से देश का हर नागरिक दुखी है। देश में इस प्रकार के कानून बनाए जा रहे हैं कि योजनाबद्ध तरीके से देश का पैसा अंबानी-अडानी के पास जा रहा है।

दिल्ली में 22 से किसान संसद लगेगी : राकेश टिकैत
भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि 22 जुलाई से रोजाना 200 किसान पार्लियामेंट जाएंगे। संसद के नजदीक शांतिपूर्वक तरीके से दिन-भर धरना देंगे और शाम को लौट आया करेंगे। एक तरह से वहां रोजाना किसान संसद लगेगी। टिकैत ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री चाहते हैं कि किसान दिल्ली छोड़कर सारा आंदोलन हरियाणा में ले आएं। मुख्यमंत्री दिल्ली की कुर्सी चाहते हैं और उनकी कुर्सी पर वहां के गृहमंत्री बैठना चाहते हैं। दोनों में आपस में विवाद है, इसलिए किसानों पर हरियाणा में मुकदमें दर्ज किए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...