गाजियाबाद-नोएडा में ट्यूबवैल-टैंकरों से होगी पानी सप्लाई:आज रात से एक महीने के लिए बंद हो रही गंगनहर, पेयजल आपूर्ति हो सकती है प्रभावित

गाजियाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गंगनहर से गंगाजल की आपूर्ति आज रात से बंद हो जाएगी। इसके चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। - Dainik Bhaskar
गंगनहर से गंगाजल की आपूर्ति आज रात से बंद हो जाएगी। इसके चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

गाजियाबाद से निकल रही गंगनहरें सिल्ट सफाई के लिए 15 अक्तूबर की रात से बंद हो जाएंगी। इसके चलते अगले एक महीने तक गाजियाबाद और नोएडा के कुछ इलाकों में पानी सप्लाई प्रभावित होगी। हालांकि नगर निगम ने पेयजल आपूर्ति के लिए मुकम्मल इंतजाम होने का दावा किया है।
सिंचाई विभाग के अनुसार, मुख्य गंगनहरें 15 अक्तूबर से 15 नवंबर तक बंद रहेंगी। इस दौरान मुख्य और सहायक गंगनहरों में सिल्ट सफाई का काम होगा। गंगनहर से गाजियाबाद व नोएडा को पेयजल सप्लाई भी होती है। गाजियाबाद में सिद्धार्थ विहार स्थित गंगाजल प्लांट से 50 क्यूसेक पानी की आपूर्ति वसुंधरा, वैशाली, कौशांबी व डेल्टा कॉलोनी को होती है। प्रताप विहार प्लांट से 100 क्यूसेक पानी नोएडा को सप्लाई होता है।
दो दिन पानी सप्लाई के घंटे घंटेंगे
नहरें 15 अक्तूबर से बंद होंगी। गंगाजल प्लांट में इसका असर दो दिन बाद यानि 17 अक्तूबर से पड़ेगा। क्योंकि प्लांट में कुछ पानी रिजर्व में रखा जाता है। इसलिए 15 और 16 अक्तूबर को गाजियाबाद-नोएडा की कॉलोनियों में पानी की सप्लाई के घंटे कम कर दिए जाएंगे। जैसे ही प्लांट में पानी खत्म होगा, वैसे ही गाजियाबाद विकास प्राधिकरण और नगर निगम के द्वारा टैंकरों के जरिये पेयजल आपूर्ति शुरू कर दी जाएगी।
इतने संसाधनों से पानी सप्लाई का दावा
जीडीए के अधिशासी अभियंता एके चौधरी ने बताया कि इंदिरापुरम, वसुंधरा, वैशाली, कौशांबी इलाके में 22 नलकूप, 56 छोटे और 26 बड़े ट्यूबवैल, 15 टैंकरों से पानी सप्लाई दी जाएगी। इसी तरह नोएडा में भी अथॉरिटी ने पानी सप्लाई के इंतजाम किए हैं। करीब एक महीने तक पेयजल आपूर्ति की यही व्यवस्था रहेगी। 15 नवंबर से नहरें प्रारंभ हो जाएंगी।

खबरें और भी हैं...