गाजियाबाद ...नकली नोट छापने वाले गैंग के 7 आरोपी गिरफ्तार:मास्टरमाइंड ने यूट्यूब से सीखा था प्रिंटिंग का तरीका, बंद कमरे में छापते थे 2 हजार के नोट

गाजियाबाद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने आजाद नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। वह इस गैंग का सरगना है। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने आजाद नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। वह इस गैंग का सरगना है।

गाजियाबाद पुलिस ने शुक्रवार को नकली नोट छापने वाले गिरोह के सात लोगों को गिरफ्तार किया है। यह गिरोह पिछले 8 महीने से बाजार में नकली नोट सप्लाई कर रहा था। पुलिस ने आरोपियों के पास से 100 रुपए से लेकर पांच सौ और दो हजार रुपए तक के नकली नोट बरामद किए हैं। यह गिरोह 17 लाख रुपए के नकली नोट मार्केट में चला चुका है। आरोपियों से पूछताछ की गई तो पता चला कि यूट्यूब पर वीडियो देखकर प्रिटिंग मशीन से नकली नोट छापने शुरू किए थे।

नकली नोट को पहचान पाना मुश्किल

पुलिस ने बरामद किए गए नोटों की बारीकी से पड़ताल की। नोट देखने में एकदम असली की तरह दिखाई पड़ रहे है। हाथ में लेने पर उनकी पहचान करना मुश्किल है। पुलिस ने आजाद नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। वह इस गैंग का सरगना है। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने नकली नोट बरामद किए हैं।

प्रेसवार्ता करते एएसपी आकाश पटेल।
प्रेसवार्ता करते एएसपी आकाश पटेल।

मुखबिर की सूचना पर पकड़ा गिरोह

एएसपी गाजियाबाद आकाश पटेल ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि मार्केट में नकली नोट चलाए जाने की सूचना मिली थी। कविनगर पुलिस, स्वॉट टीव व नारकोटिक्स सैल ने मुखबिर की सूचना पर कविनगर इलाके से आजाद को पकड़ा। स्वॉट टीम के प्रभारी इंस्पेक्टर अब्दुर रहमान ने आजाद से पूछताछ की। आजाद ने पूछताछ में बताया कि मैने पेट्रोल पंप पर एक व्यक्ति से चेंज रुपए मांगे थे। उनमें कई नोट नकली थी। नकली नोट बाजार में चल गए। जिसके बाद नकली नोट छापने का प्लान बनाया। जिसके बाद यू ट्यूब से नकली नोट बनाने का काम सीख लिया।

यूनुस के मकान पर छापे जाते थे नोट

पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि गाजियाबाद के इस्लाम नगर स्थित कैला भट्‌टा में यूनुस के मकान में नकली नोट छापे जाते थे। अमन और आलम उर्फ आशीष भी गिरोह में शामिल हैं। एक असली नोट के बदले में तीन नकली नोट देते। इन नकली नोटों को बाजार में अलग अलग स्थानों पर सप्लाई किया गया। जिसमें आलम व अमन ने पुलिस को बताया की हम 20 प्रतिशत कमीशन पर नकली नोट सप्लाई करते थे।

पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि गाजियाबाद के इस्लाम नगर स्थित कैला भट्‌टा में यूनुस के मकान में नकली नोट छापे जाते थे।
पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि गाजियाबाद के इस्लाम नगर स्थित कैला भट्‌टा में यूनुस के मकान में नकली नोट छापे जाते थे।

गाजियाबाद के रहने वाले हैं आरोपी

पुलिस ने सात आरोपियों को पकड़ा गया है। उनकी पहचान अमन, आलम,रहबर, फुरकान, आजाद, यूनुस, सोनू उर्फ गंजा के रूप में हुई है। सभी गाजियाबाद के रहने वाले हैं।

यह हुई बरामदगी

पुलिस ने बताया की सातों युवकों के पास से 6 लाख 59 हजार 600 रुपये के जाली नोट बरामए किए गए हैं। 2 हजार के 132 नोट, 500 रुपये के 554 नोट, 200 रुपये के 540 नोट और 100 रुपये के 106 नोट बरामद किए हैं। नोट छापने के लिए प्रिंटर, कटर, बंडल व अन्य सामान बरामद किया है।

खबरें और भी हैं...