गाजियाबाद में दो मेडिकल छात्रों की मौत:एलिवेटेड रोड पर तेज रफ्तार स्पोर्ट्स बाइक साइड वॉल से टकराई, 30 फीट नीचे गिरा एक छात्र

गाजियाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश के पहले सिंगल पिलर एलिवेटेड रोड पर गाजियाबाद में शनिवार रात दर्दनाक हादसा हो गया। तेज रफ्तार स्पोर्ट्स बाइक साइड वॉल से जा टकराई। एक छात्र एलिवेटेड रोड से करीब 30 फीट नीचे आ गिरा। दोनों छात्रों की मौके पर मौत हो गई। दोनों अरुणांचल प्रदेश के रहने वाले थे गाजियाबाद के कॉलेजों से BDS की पढ़ाई कर रहे थे। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस ने परिजनों को सूचित कर दिया है।

अरुणांचल प्रदेश के रहने वाले थे दोनों छात्र
मृतकों की पहचान 19 वर्षीय सोलोमने और ग्याती ताजे के रूप में हुई है। दोनों अरुणांचल प्रदेश के रहने वाले थे। इसमें एक छात्र गाजियाबाद के इंद्रप्रस्थ मेडिकल कॉलेज और दूसरा मुरादनगर के कादराबाद स्थित कॉलेज से BDS की पढ़ाई कर रहा था। शनिवार देर रात दोनों छात्र स्पोर्ट्स बाइक से दिल्ली से गाजियाबाद की तरफ लौट रहे थे। एलिवेटेड रोड पर इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में वसुंधरा पुलिस चौकी के समीप तेज रफ्तार बाइक रोड की साइड वॉल से जा टकराई।

दोनों छात्र इसी बाइक से दिल्ली से गाजियाबाद की तरफ लौट रहे थे, जब ये हादसा हुआ।
दोनों छात्र इसी बाइक से दिल्ली से गाजियाबाद की तरफ लौट रहे थे, जब ये हादसा हुआ।

अस्पताल पहुंचते ही मृत घोषित
बताया जा रहा है कि टक्कर इतनी तेज थी कि एक लड़का बाइक से उछलकर एलिवेटेड रोड को क्रॉस करके नीचे सड़क पर आ गिरा। सड़क और एलिवेटेड रोड की ऊंचाई में करीब 30 फीट का अंतर है। जबकि दूसरे छात्र का सिर एलिवेटेड रोड की साइड वॉल से टकराया। कुछ ही देर में पुलिस वहां पहुंच गई और घायल दोनों छात्रों को नजदीकि अस्पताल में ले गई। अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि दोनों में से किसी भी छात्र ने हेलमेट नहीं पहना हुआ था। इस वजह से सिर में गहरी चोट आई और यही उनकी मौत की वजह बनी।

इस रोड पर खूब होती है स्टंटबाजी
जहां हादसा हुआ, ये देश का पहला सिंगल पिलर एलिवेटेड रोड है। यह एलिवेटेड रोड गाजियाबाद में राजनगर एक्सटेंशन से शुरू होती है और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में जाकर जुड़ती है। इसकी लंबाई 10.82 किलोमीटर है। इसके निर्माण पर 1248 करोड़ रुपए लागत आई थी। यह रोड 227 सिंगल पिलर पर छह लेन चौड़ी है। मार्च-2018 में सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसका उदघाटन किया था। इतना रुपया खर्च होने के बावजूद एलिवेटेड रोड पर CCTV कैमरे तक नहीं लगाए गए हैं। इस वजह से यहां खूब स्टंटबाजी होती है।