• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ghaziabad
  • Kisan Morcha Will Fight For The Dismissal Of Minister Ajay, The Voice Raised For The Release Of Farmers Arrested In Lakhimpur Violence, Advocate Panel Met SIT Uttar Pradesh Today News Updates

किसान मोर्चा मंत्री अजय की बर्खास्तगी को लड़ेगा लड़ाई:लखीमपुर हिंसा में गिरफ्तार किसानों की रिहाई की उठी आवाज, एडवोकेट पैनल SIT से मिला

गाजियाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संयुक्त किसान मोर्चा  पैनल ने हिंसा की जांच कर रहे एसआईटी अधिकारी से मुलाकात कर गिरफ्तार किसानों को रिहा करने की मांग की है। - Dainik Bhaskar
संयुक्त किसान मोर्चा पैनल ने हिंसा की जांच कर रहे एसआईटी अधिकारी से मुलाकात कर गिरफ्तार किसानों को रिहा करने की मांग की है।

लखीमपुर हिंसा में किसानों को कानूनी सहायता मुहैया कराने के लिए संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने एडवोकेट पैनल गठित किया है। इस पैनल ने हिंसा की जांच कर रहे एसआईटी अधिकारी से मुलाकात कर गिरफ्तार किसानों को रिहा करने की मांग की है। संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से जारी प्रेस बयान में कहा गया है कि गठित पैनल केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्र की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी के लिए लड़ाई लड़ेगा।

चार सदस्यीय कानूनी समिति में एडवोकेट प्रेम सिंह भंगू, धर्मेंद्र मलिक, रमिंदर सिंह पटियाला और एडवोकेट पूनम कौशिक शामिल हैं। शनिवार को इस टीम ने लखीमपुर खीरी का दौरा किया। वहां पर वकीलों की सात सदस्यीय टीम का गठन किया। इस टीम में सीनियर एडवोकेट सुरेश कुमार मुन्ना, हरजीत सिंह, अनुपम वर्मा, मोहम्मद ख्वाजा, यदविंदर वर्मा, सुरिंदर सिंह और इसरार अहमद शामिल हैं।

यह टीम मुख्य आरोपी आशीष मिश्र समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ेगी। इसके अलावा किसान संगठनों के स्वयंसेवकों की एक टीम भी बनाई गई है, जो कानूनी कार्रवाई में सहायता के लिए वकीलों की 7 सदस्यीय टीम के साथ समन्वय करेगी।

एसकेएम कानूनी समिति ने लखीमपुर घटना में गठित एसआईटी के पुलिस अधिकारियों से भी मुलाकात की। घटना में गिरफ्तार दो किसानों की तत्काल रिहाई के साथ-साथ किसानों को पुलिस नोटिस भेजे जाने पर तत्काल रोक लगाने की मांग की। समिति ने एसआईटी अधिकारियों को यह भी याद दिलाया कि शीर्ष अदालत इस हिंसा की निगरानी कर रही है।

सात अधिवक्ताओं की टीम काम करेगी
प्रेम सिंह भंगू और रमिंदर सिंह पटियाला ने एक प्रेस बयान जारी कर कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्र की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी के लिए लड़ाई लड़ेगा।दोषियों की सजा के लिए कानूनी लड़ाई भी लड़ेगा। उन्होंने कहा कि लखीमपुर में युवा पत्रकार के परिवार सहित मृतक और घायल किसानों को न्याय दिलाने के लिए संयुक्त किसान मोर्चा के वरिष्ठ अधिवक्ताओं के मार्गदर्शन में सात अधिवक्ताओं की टीम लगातार काम करेगी।