गाजियाबाद से 24 घंटे में दो छात्र लापता:एक संदिग्ध परिस्थितियों में मुरादनगर गंगनहर पर मिला, बोला- कार सवार किडनैप कर ले गए थे, दूसरे छात्र का सुराग नहीं

गाजियाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संजयनगर से लापता छात्र हिमांशु को आखिरी बार गली में ही साइकिल चलाते देखा गया था। - Dainik Bhaskar
संजयनगर से लापता छात्र हिमांशु को आखिरी बार गली में ही साइकिल चलाते देखा गया था।

गाजियाबाद से 24 घंटे के भीतर दो नाबालिग छात्र लापता हो गए। इसमें एक छात्र संदिग्ध परिस्थिति में मुरादनगर गंगनहर के नजदीक से सकुशल मिल गया। उसने तीन लोगों पर किडनैप करके मेरठ ले जाने का आरोप लगाया है। दूसरे छात्र की तलाश जारी है।

पांच अगस्त को लापता हुआ हिमांशु सात अगस्त को सकुशल मिला है।
पांच अगस्त को लापता हुआ हिमांशु सात अगस्त को सकुशल मिला है।

संजयनगर में साइकिल चलाते वक्त हुआ लापता

एम-241, सेक्टर-23 संजयनगर निवासी सुरेश कश्यप साइकिल की दुकान करते हैं। उनका 12 साल का बेटा हिमांशु कश्यप केंद्रीय विद्यालय संजयनगर में कक्षा-छह का छात्र है। पांच अगस्त की शाम 6 बजे हिमांशु साइकिल लेकर घर से निकला और फिर लौटकर नहीं आया। सीसीटीवी कैमरे में आखिरी बार संजयनगर में साइकिल चलाता हुआ दिखा। परिजनों ने हर जगह खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चला।

छात्र बोला- मेरठ ले जाकर फेंक गए किडनैपर्स

शनिवार शाम परिवारवाले मेरठ के लावड़ कस्बे में एक साधु से मिलकर लौट रहे थे, तभी उन्हें हिमांशु मुरादनगर गंगनहर के नजदीक गाजियाबाद की तरफ पैदल जाता हुआ दिख गया। उन्होंने हिमांशु को गाड़ी में बैठा लिया। बकौल हिमांशु, केवी के पास से कार सवार नकाबपोश तीन युवक उसे अपहरण करके ले गए। मेरठ में बंधक बनाकर रखकर पिटाई की और फिर रास्ते में फेंक दिया। वह मेरठ से पैदल ही गाजियाबाद आ रहा था। हालांकि पुलिस को नाबालिग छात्र की इस कहानी पर ऐतबार नहीं है। पुलिस को अपने सूत्रों से पता चला है कि छात्र हरिद्वार-नीलकंठ की तरफ चला गया था।

छह अगस्त को सुमित ट्यूशन पढ़ने गया था, उसके बाद से लापता है।
छह अगस्त को सुमित ट्यूशन पढ़ने गया था, उसके बाद से लापता है।

ट्यूशन पढ़ने गया छात्र लापता, सुराग नहीं

गाजियाबादकी सिहानी चुंगी गली नंबर-9 से 13 साल का सुमितपाल भी छह अगस्त की सुबह से लापता है। कक्षा-आठ का छात्र सुमित उस रोज ट्यूशन पढ़ने के लिए बनवारी वाटिका गली-तीन में गया था और फिर नहीं लौटा। पिता इनवर्टर-बैटरी की दुकान करते हैं। सीसीटीवी कैमरे में आखिरी बार वह गली से बाहर निकलते हुए दिखा है, इसके बाद उसका कुछ पता नहीं चला। परिजनों ने थाना सिहानी गेट पुलिस को सूचना दे दी है। परिजनों ने बताया कि सुमित मोबाइल रखता था, लेकिन उस दिन वह मोबाइल घर पर ही छोड़ गया था।

खबरें और भी हैं...