मोबाइल बचाने को 300 मीटर तक घिसटी छात्रा...VIDEO:गाजियाबाद में सेलफोन लूटा तो भिड़ गई, दोनों घुटने छिल गए; बमुश्किल जान बचाकर भागे बदमाश

गाजियाबाद9 महीने पहले

गाजियाबाद में शनिवार रात बाइक सवार बदमाशों ने बीए की छात्रा का मोबाइल लूट लिया। अपना मोबाइल बचाने के लिए छात्रा लुटेरों से भिड़ गई। वह करीब 300 मीटर तक लुटेरों की बाइक पकड़कर घिसटती चली गई। घुटने छिलने से उसकी पकड़ कमजोर हो गई और बमुश्किल बदमाश जान बचाकर भाग निकले। हद ये है कि लुटेरों को पकड़ने के बजाए गाजियाबाद पुलिस कई घंटे तक सीमा विवाद में उलझी रही। बाद में साहिबाबाद थाने की पुलिस ने अपने इलाके की घटना मानते हुए मामले की जांच पड़ताल शुरू की।

ट्यूशन पढ़कर लौट रही थी, बाइकर्स ने मोबाइल छीना
साहिबाबाद क्षेत्र निवासी निशा बीए की छात्रा है। शनिवार रात 8 बजकर 20 मिनट पर वह ट्यूशन पढ़कर पैदल ही घर लौट रही थी। श्याम पार एक्सटेंशन इलाके में पीछे से एक बाइक पर सवार होकर आए दो बदमाशों ने निशा के हाथ से मोबाइल झपट लिया और भागने लगे। निशा ने पीछे वाले बदमाश को पकड़ लिया और बाइक के साथ ही भागने लगी। बाइक की स्पीड तेज होने से वह घिसटने लगी।

बदमाशों से लड़ने वाली छात्रा निशा।
बदमाशों से लड़ने वाली छात्रा निशा।

इसके बाद भी उसने बदमाश को नहीं छोड़ा। मोबाइल बचाने की जद्दोजहद में छात्रा ने लाजपतनगर चौकी क्षेत्र में बालाजी कन्फैक्शनरी से हनुमान मंदिर तक संघर्ष किया। बाइक की स्पीड तेज होने से छात्रा के दोनों पैरों के घुटने छिल गए। इसकी वजह से उसकी पकड़ कमजोर पड़ गई और बदमाश छूटकर भाग निकले। यह पूरी घटना CCTV में कैद हो गई। इसमें दिख रहा है कि निशा को बचाने के लिए उसकी दो सहेलियां भी बदमाशों की बाइक के पीछे दौड़ लगा रही हैं।

घंटों तक सीमा विवाद में उलझी रही पुलिस
निशा ने बताया, इस घटना के तुरंत बाद वह शनि पुलिस चौकी पहुंची। यहां से पुलिसकर्मी पीड़िता को लेकर घटनास्थल पर गए। घटनास्थल देखकर पुलिसकर्मियों ने कहा कि घटनास्थल जिंदल मार्केट पुलिस चौकी का है। इसके बाद पीड़िता जिंदल मार्केट चौकी पर पहुंची। यहां से कांस्टेबल उसके साथ घटनास्थल पर गया और वहां से लौटकर छात्रा को अंबे हॉस्पिटल में एडमिट कराया। यहां डॉक्टरों ने छात्रा का प्राथमिक उपचार किया। साहिबाबाद थाना प्रभारी भी हॉस्पिटल पहुंचे। उन्होंने छात्रा से पूरा घटनाक्रम जाना। थाना प्रभारी ने बताया कि बदमाशों की तलाश की जा रही है।