तुम सब मरोगे, अपने बच्चों को भी मरवाओगे:वसीम रिजवी की गिरफ्तारी पर नरसिंहानंद गिरि बोले- हमें 200 करोड़ मुसलमानों को सनातन में लाना है

गाजियाबाद4 महीने पहले

हरिद्वार में 17 से 19 दिसंबर तक हुई धर्म संसद में नफरती भाषण देने के आरोप में जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी की गुरुवार को गिरफ्तारी हुई। इस दौरान की एक वीडियो सामने आया है। इसमें उत्तराखंड पुलिस वसीम रिजवी के साथ नरसिंहानंद गिरि को गाड़ी से नीचे उतरने के लिए बोल रही है। नरसिंहानंद गिरि पुलिस अफसरों से यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं, 'यार तुम सब मरोगे, अपने बच्चों को भी मरवाओगे '

यूपी-उत्तराखंड बॉर्डर से हुई थी गिरफ्तारी
यह वीडियो यूपी-उत्तराखंड के नारसन बॉर्डर की है, जब वसीम रिजवी, नरसिंहानंद गिरि और एक अन्य महाराज गाड़ी में बैठे हुए थे। हरिद्वार की ज्वालापुर थाना पुलिस ने उनकी गाड़ी को रोका। तीनों को गाड़ी से नीचे उतारने का प्रयास किया। इस दौरान नरसिंहानंद गिरि और पुलिस अफसरों में नोकझोंक हुई। उन्होंने पुलिस से पूछा- इन्हें क्यों गिरफ्तार कर रहे हो आप।

पुलिस ने कहा कि लीगल प्रोटोकॉल के अनुसार, हमें अरेस्टिंग करनी है। 3 मुकदमों में वह आरोपी हैं। इस पर नरसिंहानंद ने कहा कि तीनों के तीनों मुकदमों में मैं साथ हूं। 44 सेकेंड की वीडियो में आखिरी के 6 सेकेंड नरसिंहानंद गिरि कहते हैं- तुम सब मरोगे, अपने बच्चों को भी मरवाओगे। सीओ स्तर के अधिकारी हाथ पकड़ते हुए कहते हैं- तुम चलो तो सही। नरसिंहानंद कहते हैं- चल रहा हूं सीओ साहब।

वसीम रिजवी को उत्तराखंड पुलिस ने यूपी बॉर्डर से गिरफ्तार किया था।-फाइल फोटो
वसीम रिजवी को उत्तराखंड पुलिस ने यूपी बॉर्डर से गिरफ्तार किया था।-फाइल फोटो

रिजवी की जमानत अर्जी पर सुनवाई आज संभव
हरिद्वार कोर्ट ने जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को गुरुवार शाम ही जेल भेज दिया। इसके विरोध में जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरि हरकी पैड़ी के सर्वानंद घाट पर अन्न-जल त्यागकर निर्जला उपवास पर बैठ गए हैं। उनका कहना है कि वसीम रिजवी की रिहाई तक यह सत्याग्रह जारी रहेगा। नरसिंहानंद गिरि ने कहा कि हम तब तक बैठे रहेंगे, जब तक वह जेल से छूट नहीं जाते। इसके बाद ही हम अन्न-जल ग्रहण करेंगे।

एक अपराध जो बहुत सारे लोगों ने किया, उसमें सिर्फ एक को गिरफ्तार किया, बाकी को छोड़ दिया। हमें दुनिया के 200 करोड़ मुसलमानों को सनातन में लाना है। उधर, वसीम रिजवी की जमानत अर्जी पर आज हरिद्वार की मुख्य अदालत में सुनवाई हो सकती है।

गाजियाबाद के मंदिर में हुआ था वसीम रिजवी का धर्मांतरण
नरसिंहानंद गिरि गाजियाबाद में डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर हैं। इसी मंदिर में उन्होंने 6 दिसंबर को वसीम रिजवी का धर्मांतरण कराया और उन्हें नया नाम जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी दिया था। धर्मांतरण के बाद से वसीम रिजवी मुस्लिम धर्म को लेकर लगातार विवादित बयानबाजी कर रहे हैं। इसे लेकर उन पर हरिद्वार में तीन मुकदमे पिछले दिनों दर्ज हुए हैं।