गाजियाबाद में 15 लाख रुपए ठगने वाली मां-बेटी अरेस्ट:रिटायर आर्मीमैन के बेटे की नौकरी का दिया झांसा; रुपए लेकर घर खाली करके भागी

गाजियाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गाजियाबाद की कविनगर थाना पुलिस ने 15 लाख रुपए ठगने में मां-बेटी को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
गाजियाबाद की कविनगर थाना पुलिस ने 15 लाख रुपए ठगने में मां-बेटी को गिरफ्तार किया है।

नौकरी लगवाने का झांसा देकर लाखों रुपयों की ठगी करने वाली मां-बेटी को गाजियाबाद पुलिस ने पकड़ा है। दो दिन पहले उनके खिलाफ थाना कविनगर में धोखाधड़ी की एक FIR दर्ज हुई थी। इसमें जांच करते हुए पुलिस ने महज दो दिन में आरोपी महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया।

गाजियाबाद में शास्त्रीनगर स्थित महेंद्रा एंक्लेव निवासी होरीलाल इंडियन आर्मी से रिटायर हैं। चिरंजीव विहार में उनकी एक दुकान है। इस दुकान के पास ही काजल भारद्वाज और उसकी बेटी इशिका भारद्वाज काफी समय से किराए पर रह रही थीं।

होरीलाल का कहना है कि दोनों महिलाओं ने उनकी पत्नी ममता को झांसे में लेकर बेटे की सरकारी नौकरी लगवाने का झांसा दिया। नौकरी के नाम पर मां-बेटी ने 20 लाख रुपए मांगे। ममता ने 2 बार में कुल 15 लाख रुपए दे दिए।

इसके बाद भी नौकरी नहीं लगवाई। बल्कि 28 नवंबर 2022 को मां-बेटी किराए का मकान खाली करके अनयंत्र स्थान पर चली गईं। जिसके बाद होरीलाल ने दोनों के खिलाफ ठगी की FIR कराई। कविनगर थाने के इंस्पेक्टर अमित कुमार ने बताया कि नामजद आरोपी इशिता भारद्वाज और उसकी मां काजल भारद्वाज को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दोनों मूल रूप से बिजनौर जिले में नूरपुर थाना क्षेत्र के गांव खटाई की रहने वाली हैं। इंस्पेक्टर ने बताया कि ठगी की रकम से मां-बेटी ने कुछ ज्वेलरी खरीद ली थी। ये ज्वेलरी बरामद की गई है। अभियुक्त काजल के खिलाफ बागपत जिले में मारपीट और धमकी देने का एक केस दर्ज है।

खबरें और भी हैं...